ओला करेगा लखनऊ में करेगा सबसे बड़े सीएनजी कार मेले का आयोजन

ओला करेगा लखनऊ में करेगा सबसे बड़े सीएनजी कार मेले का आयोजन

लखनऊ: परिवहन के लिए भारत के मोबाइल ऐप ओला ने आज घोषणा की है कि इसने लखनऊ में सबसे बड़े सीएनजी कार मेला- ओला प्रगति महोत्सव के आयोजन के लिए अग्रणी कार निर्माताओं, बैंकों एवं फाइनेन्सरों के साथ साझेदारी की है। इस विशाल कार्यक्रम का आयोजन रविवार, 20 मार्च को सुबह 10 बजे से शाम 6 बजे तक पार्किंग ग्राउण्ड, गम्बा टाॅवर के सामने, विभूति खंड, गोमती नगर, लखनऊ में किया जाएगा। लखनऊ केे महत्वाकांक्षी ड्राइवर उद्यमी जो ओला के साथ जुड़कर खुद अपना कारोबार शुरू करना चाहते हैं, वे इस साझेदारी के तहत अग्रणी कार निर्माताओं जैसे टाटा, मारुति, ह्युन्डई, निस्सान और फिएट से कार खरीद सकते हैं और इसे ओला के साथ जोड़ सकते हैं। साथ ही ड्राइवर अग्रणी फाइनेन्सरों जैसे एचडीएफसी बैंक, श्रीराम ट्रांसपोर्ट फाइनेन्स कम्पनी, टाटा कैपिटल आदि की वित्तीय सेवाओं से लाभान्वित हो सकते हैं। 

इस पहल के माध्यम से ड्राइवर मात्र 60,000 रु की डाउन पेमेन्ट पर नई सीएनजी कार खरीद सकते हैं। उम्मीद की जा रही है कि शहर के हज़ारों ड्राइवर इस मेले में हिस्सा लेंगे और इनमें से सैंकड़ों कार्यक्रम स्थल पर ही अपने लिए वाहन की बुकिंग करेंगे। इस पहल को ड्राइवर साझेदारों के लिए अधिक आकर्षक बनाने के लिए एक और आॅफर पेश किया गया है, ड्राइवर मात्र 2000 रु की टोकन राशि का भुगतान करके भी सीएनजी कार की बुकिंग कर सकते हैं।

इस मौके पर ओला के सीओओ प्रणय जिवराजका ने बताया, ‘‘हम लखनऊ शहर को स्वच्छ एवं हरित बनाने केे लिए प्रतिबद्ध हैं और शहर में हमारे फ्लीट में 100 फीसदी सीएनजी कारें हैं। इस अनूठी पहल के माध्यम से हम सैंकड़ों नई सीएनजी कारें अपने प्लेटफाॅर्म में शामिल करेंगे। हमें विश्वास है कि इससे हम शहर के नागरिकों को बेहतर सेवाएं उपलब्ध करा सकेंगे। ओला में हम एक ऐसी प्रणाली का निर्माण करना चाहते हैं जो ड्राइवरों को भी खुद अपना कारोबार शुरू करने में मदद कर सके। ऐसे में अग्रणी कार निर्माताओं एवं वित्तीय संस्थानों के साथ हमारी साझेदारी न केवल इन ड्राइवरों को अपना कारोबार शुरू करने में मदद करेगी, बल्कि इससे उनकी कमाई भी बढ़ेगी। आने वाले महीनों में हम इस तरह की अई अन्य साझेदारियों की योजना बना रहे हैं।’’ 

ओला ने हाल ही में यूपी सरकार के साथ एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं जिसके तहत अगले 5 सालों में राज्य में उद्यमिता के 50,000 से ज्यादा अवसर पैदा होंगे। कम्पनी 2014 की शुरूआत में उत्तर प्रदेश में आई और राज्य के पहले आॅन-डिमाण्ड कैब बुकिंग ऐप के रूप में इसने राज्य में निजी परिवहन की परिभाषा को पूरी तरह से बदल डाला है। आज, ओला राज्य के 9 बड़े शहरों लखनऊ, कानपुर, आगरा, मेरठ, अलीगढ़, अलाहाबाद, सहारनपुर, वाराणसी और मथुरा में अपनी सशक्त मौजूदगी के साथ स्थानीय परिवहन में अपनी सशक्त मौजूदगी बना चुकी है। वर्तमान में राज्य में ओला के प्लेटफाॅर्म पर 2100 से ज़्यादा वाहन हैं और अगले 5 सालों में इस संख्या के 20,000 तक पहुंचने की उम्मीद है।