मनपसन्द बेव्रेजीस का शुद्ध लाभ 4‐92 करोड रूपये हुआ

मनपसन्द बेव्रेजीस का शुद्ध लाभ 4‐92 करोड रूपये हुआ

31 दिसंबर 2015 को समाप्त तिमाही के लिए भारत की अग्रणी फ्रूट जूस प्लेयर, मनपसन्द बेव्रेजीस लिमिटेड ने 4‐92 करोड रुपये का शुद्ध लाभ दर्ज किया है. पिछले वित्तीय वर्ष के इसी तिमाही में कंपनी ने 2‐59 करोड रुपये का शुद्ध नुकसान दर्ज किया था. वित्तीय वर्ष 15-16 के तीसरे तिमाही के लिए शुद्ध बिक्री 89‐91 करोड़ रुपये रही की जो पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही के 51‐05 करोड़ रुपये से 76 फीसदी अधिक है. वित्तीय वर्ष 2016 के तीसरे तिमाही का प्रति शेयर आय (ईपीएस) 0‐98 रुपये है. 

दिसंबर 2015 को समाप्त नौ महीनों के लिए, कंपनी ने 25‐01 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ कमाया जबकि पिछले वर्ष की इसी अवधि के लिए यह 12‐64 करोड रुपये था. इस प्रकार यह वृद्धि 97‐9 फीसदी रही. वित्तीय वर्ष 2015-16 के नौ महीनों में कंपनी की शुद्ध बिक्री 326‐32 करोड़ रुपये रही जो पिछले साल की इसी अवधि के 239‐10 करोड रूपये से 36‐5 फीसदी अधिक है. वित्तीय वर्ष 2016 के नौ महीने के लिए ईपीएस 5‐46 रुपये है जबकि वित्तीय वर्ष 2015 की इसी अवधि के लिए यह 4‐22 रुपये थी. 

श्री धीरेन्द्र सिंह, चेयरमैन एवँ एमडी, मनपसन्द बेव्रेजीस ने कहा कि कंपनी का प्रमुख ब्रांड मैंगो सिप की बिक्री तेज गति से जारी है और हमारे नए शहरी बाजार ब्रांड फ्रुट्स अप को उपभोक्ताओं से बहुत अच्छी प्रतिक्रिया मिल रही है. हरियाणा में एक नई विनिर्माण सुविधा की स्थापना और वडोदरा और वाराणसी फैस्लिटी के आधुनिकीकरण सहित विस्तार योजना का काम पूरा हो चुका है. तिमाही के दौरान कंपनी ने जर्मन होलसेल रिटेल और ट्रेडिंग कम्पंनी मेट्रो कैश एंड कैरी के साथ एक टाई अप किया और शहरी बाजार में पैठ बढ़ाने के लिए इस तरह के और अधिक गठजोड़ की तलाश कर रही है. मनपसन्द ने आईपीओ और आंतरिक स्रोतों से अपनी पूरी बकाया ऋण चुका कर पूरी तरह से ऋण मुक्त कंपनी बन गई है.