सैफई में खड़े हुए 32 फुट ऊंचे पवन पुत्र हनुमान

सैफई में खड़े हुए 32 फुट ऊंचे पवन पुत्र हनुमान

महोत्सव मेला मैदान में स्थापित हुई ताम्र प्रतिमा, सांसद तेजप्रताप ने की विधिवत पूजा

सैफई, इटावा। मंगलवार को रणवीर सिंह स्म्रति सैफई महोत्सव समिति की ओर से महोत्सव मेला मैदान में 32 फुट ऊंची पवन पुत्र हनुमान की ताम्र प्रतिमा विधि विधान से पूजन अर्चन के साथ स्थापित करायी गयी । यह मूर्ति जयपुर के मूर्ती निर्माण संस्थान के मुकेश प्रजापति ने लगातार 4 महीने की निर्माण प्रक्रिया के बाद बनाई है ।

जयपुर से 23 जनवरी को चली थी और 12 टन वजनी इस मूर्ति को सैफई पहुंचने में 3 दिन लगे । 26 जनवरी को मूर्ती के सैफई पहुंचने के बाद इसकी सफाई धुलाई और सपोर्टिंग  स्टेण्ड की बेल्डिंग  का काम चला।

सन् 1996 में सैफई महोत्सव की स्थापना के समय से  ही हर वर्ष मिटटी की विशाल हनुमान प्रतिमा महोत्सव प्रांगण में स्थापित की जाती थी । बाद में इसका विसर्जन होता था। गत वर्षों में समिति में स्थायी हनुमान प्रतिमा लगाने पर मन्थन चला। इसके बाद महोत्सव समिति अध्यक्ष सांसद धर्मेन्द्र यादव ने मूर्ति लगवाने की घोषणा कर दी । इस वर्ष नवम्वर माह में देश के प्रमुख मूर्ती निर्माता जयपुर से बुलवाये गए और मूर्ती निर्माण आरम्भ हो गया। महोत्सव के आरम्भ में ही मूर्ति लगवाने का लक्ष्य था। मगर विलम्ब हो गया।

महोत्सव दौरान मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने 20 फुट ऊंचे स्टेण्ड पर मूर्ति लगाने  के साथ रेप बनवाने की सलाह दी थी , इसके बाद रात दिन लगकर इंजीनियरों ने स्टेण्ड बनाया। स्टेण्ड पर लगने के बाद मूर्ती 50 फुट से ज्यादा जमीन से ऊंची हो गयी है ।

आज मूर्ति को स्टेण्ड पर पहुँचाने के लिए लखनऊ और दिल्ली से तीन क्रेन आई थी।इन क्रेन ने मूर्ती को डेढ़ घंटे की मशक्कत के बाद जैसे ही 20 फुट से ज्यादा ऊंचे स्टेण्ड पर पहुँचाया, तो बड़ी संख्या में एकत्रित लोगों ने पवन पुत्र हनुमान की जयजयकार की ।

मूर्ती की प्राणप्रतिष्ठा के पूजन में सांसद मैनपुरी तेजप्रताप सिंह यादव, सैफई महोत्सव प्रबंधक वेदव्रत गुप्ता, रवीन्द्र श्रीवास्तव गुड्डू ,विजय सिंह शाक्य, प्रधान चंदगीराम यादव, राजवीर सिंह बाबा, आदि मौजूद रहे।, जिस समय मूर्ती स्थापित हो रही थी, उस दौरान मुख्यमंत्री अखिलेश यादव प्लैन से सैफई पहुँचे और मूर्ति की स्थापना की जानकारी ली ।

Uttar Pradesh, India