नीतिगत ब्याज दरें अपरिवर्तित

नीतिगत ब्याज दरें अपरिवर्तित

मुंबई: रिजर्व बैंक ने मौद्रिक नीति समीक्षा में ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया। आरबीआई ने नीतिगत ब्याज दर 6.75 प्रतिशत पर अपरिवर्तित रखी। आरबीआई को 2016-17 में मुद्रास्फीति करीब पांच प्रतिशत रहने की उम्मीद है। साथ ही राजकोषीय पक्ष यदि अनुकूल रहे तो मौद्रिक नीति नरम बनी रहेगी।

आरबीआई को चालू वित्त वर्ष में आर्थिक वृद्धि 7.4 प्रतिशत रहने का अनुमान जो इससे कम भी हो सकती है, मुश्किलों के बावजूद 2016-17 में वृद्धि दर 7.6 प्रतिशत रहेगी।

पिछले साल रिजर्व बैंक ने प्रमुख नीतिगत दर में 1.25 प्रतिशत की कटौती की और रेपो दर फिलहाल 6.75 प्रतिशत है। हालांकि दिसंबर में पाचवीं द्विमासिक मौद्रिक नीति समीक्षा में केंद्रीय बैंक ने नीतिगत दर में कोई बदलाव नहीं किया।

वैसे, उद्योग मंडल फिक्की के नए अध्यक्ष हषर्वर्धन नेवतिया ने हाल ही में कम ब्याज दर की वकालत करते हुए कहा था कि कोष की लागत ऊंची है और ब्याज दर में कटौती से निवेश को गति देने में मदद मिलेगी।

इससे पहले बोफा मेरिल लिंच ग्लोबल रिसर्च ने कहा था कि हमें उम्मीद है कि रिजर्व बैंक फरवरी की मौद्रिक नीति समीक्षा में प्रमुख नीतिगत दर में 0.25 प्रतिशत की कटौती कर सकता है।