टीम इंडिया ने किया क्लीन स्वीप

टीम इंडिया ने किया क्लीन स्वीप

आखिरी टी 20 मैच में ऑस्ट्रेलिया को 7 विकेट से हराया 

सिडनी। तीसरे और आखिरी टी 20 मैच में भारत ने रोमांचक मैच में ऑस्ट्रेलिया को 7 विकेट से हरा दिया। 198 के टारगेट का पीछा करने उतरी भारतीय टीम ने तीन विकेट खोकर 200 रन बना लिए।

इससे पूर्व शेन वॉटसन के तूफानी शतक की बदौलत ऑस्ट्रेलिया ने भारत के खिलाफ तीसरे और अंतिम टी20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में आज यहां पांच विकेट पर 197 रन बनाए। वॉटसन ने जीवनदान का फायदा उठाकर अपने करियर की सर्वश्रेष्ठ पारी खेलते हुए 71 गेंद में छह छक्कों और 10 चौकों की मदद से नाबाद 124 रन बनाए जो टी20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में दूसरा सर्वोच्च व्यक्तिगत स्कोर है। उन्होंने शॉन मार्श (09) के साथ दूसरे विकेट के लिए 53 और ट्रेविस हेड (26) के साथ चौथे विकेट के लिए 93 रन की साझेदारी की।

वॉटसन टी20 अंतरराष्ट्रीय में शतक जड़ने वाले दुनिया के 15वें और ऑस्ट्रेलिया के दूसरे बल्लेबाज है। टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच में उनसे अधिक रन ऑस्ट्रेलिया के नियमित टी20 कप्तान आरोन फिंच (156) ने ही बनाए हैं जो चोटिल होने के कारण इस मैच में नहीं खेल पाए। वॉटसन पहले बल्लेबाज हैं जिन्होंने भारत के खिलाफ टी20 में शतक जड़ा। इससे पहले भारत के खिलाफ सर्वाधिक व्यक्तिगत पारी वेस्टइंडीज के क्रिस गेल के नाम थी जिन्होंने मई 2010 में ब्रिजटाउन में 98 रन बनाए थे।

वॉटसन की तूफानी पारी की बदौलत ऑस्ट्रेलिया ने अंतिम 10 ओवर में 117 रन जुटाए। कार्यवाहक कप्तान वॉटसन ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया और टीम को तेज शुरूआत दिलाई। इस मैच के लिए टीम में शामिल किए गए उस्मान ख्वाजा (14) ने जसप्रीत बुमराह का स्वागत दो चौकों के साथ किया लेकिन अगले ओवर में आशीष नेहरा की गेंद पर विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी को कैच दे बैठे।

छठी गेंद पर खाता खोलने वाले वाटसन ने इसके बाद मोर्चा संभाला। उन्होंने शॉन मार्श के साथ दूसरे विकेट के लिए तेजी से रन जोड़े। वॉटसन ने नेहरा पर मिडविकेट के उपर से छक्का जड़ने के बाद बुमराह पर लगातार दो चौके मारे। उन्होंने नेहरा के अगले ओवर में भी लगातार दो चौके मारे। ऑस्ट्रेलिया ने पावर प्ले के छह ओवर में एक विकेट पर 57 रन बनाए।

शॉन मार्श (09) ने आफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन पर चौका जड़ा लेकिन इसके बाद उनकी सीधी गेंद को चूककर बोल्ड हो गए। ग्लेन मैक्सवेल (03) भी युवराज सिंह की पहली गेंद को सीधे एक्सट्रा कवर पर सुरेश रैना के हाथों में खेल गए जिससे ऑस्ट्रेलिया का स्कोर तीन विकेट पर 75 रन हो गया। वॉटसन ने हार्दिक पांड्या पर चौके के साथ 37 गेंद में अपना 11वां अर्धशतक पूरा किया।

ट्रेविस हेड ने भी युवराज की लगातार गेंदों पर छक्का और चौका जड़कर 12वें ओवर में टीम का स्कोर 100 रन के पार पहुंचाया। विराट कोहली ने हार्दिक पांड्या की गेंद पर वॉटसन को 56 रन के निजी स्कोर पर डीप कवर में जीवनदान दिया जिसका फायदा उठाते हुए उन्होंने इस तेज गेंदबाज पर दो चौके मारे।

धोनी भी 72 और 122 रन के निजी स्कोर पर वॉटसन को रन आउट करने से चूक गए। वॉटसन ने 17वें ओवर में जडेजा पर दो छक्के और एक चौके की मदद से 19 रन जुटाए और इस दौरान 60 गेंद में शतक पूरा किया। जडेजा ने इसी ओवर में हेड को बोल्ड किया। वॉटसन ने 19वें ओवर में नेहरा पर लॉन्ग ऑन पर पारी का अपना छठा छक्का जड़ा।

भारत के सभी गेंदबाज काफी महंगे साबित हुए। बुमराह ने 43 जबकि जडेजा ने 41 रन लुटाए। दोनों ने एक एक विकेट हासिल किया। आशीष नेहरा, रविचंद्रन अश्विन और युवराज सिंह को भी एक एक विकेट मिला।