येस बैंक ने जैगल के साथ की साझेदारी

येस बैंक ने जैगल के साथ की साझेदारी

येस बैंक ने पूरे भारत के काॅर्पोरेट ग्राहकों के लिए मास्टरकार्ड प्लेटफाॅर्म पर अपने प्रीपेड उपकरण जारी करने हेतु जैगल के साथ साझेदारी की घोषणा की। इस साझेदारी के जरिए, येस बैंक अत्यंत आकर्षक प्रीपेड कार्ड्स (रिलोडेबल कार्ड, गिफ्ट कार्ड और स्टोर वैल्यू कार्ड) जगत में अपनी पेशकश के लिए पूरक व्यवस्था प्रदान करेगा और इसका लक्ष्य रिटेल स्टोर्स, मेल आॅर्डर एवं ई-काॅमर्स प्लेटफाॅर्म सहित शाॅपिंग एवं भुगतान चैनल्स में कारोबारी अवसर का सृजन करना है।

इसे उच्च रणनीतिक महत्व वाला क्षेत्र बताते हुए, येस बैंक के वरिष्ठ प्रेसिडेंट एवं कंट्री हेड - डिजिटल बैंकिंग, रितेश राय ने कहा, ‘‘येस बैंक में, हमें विश्वास है कि वित्तीय सेवा उद्योग में परिवर्तन के क्रम में, कैशलेस भुगतान समाधान ही आगे का रास्ता है। इस साझेदारी से, येस बैंक को 1 करोड़ उपभोक्ताओं और 10,000 से अधिक काॅर्पोरेट तक पहुंचने की उम्मीद है। हमारा लक्ष्य अगले 5 वर्षों में मुंबई, दिल्ली-एनसीआर, बेंगलुरू, चेन्नई, हैदराबाद और पुणे व अन्य सहित भारत के शीर्ष 10 शहरों पर लक्षित 2 करोड़ गिफ्ट कार्ड्स जारी करना है। इस भिन्न पेशकश के जरिए हम उपभोक्ताओं व साझेदारों के लिए अधिकतम मूल्य एवं विकल्प प्रदान करते हुए फिजिकल कार्ड्स, वर्चुअल कार्ड्स एवं मोबाइल ऐप्स जैसे फाॅर्म फैक्टर्स के ग्राहकों से जुड़ सकेंगे।’’

जैगल अपने उपयोगकर्ताओं को भारी मूल्य के साथ अधिकतम मूल्य प्रदान करने पर केंद्रित डिजिटल भुगतान एवं विश्लेषण कंपनी है। जैगल के एमडी और सीईओ, अविनाश गोदखिंडी के अनुसार, ‘‘येस बैंक के साथ जैगल की साझेदारी से अगले 5 वर्षों में इसके उपभोक्ता आधार को बढ़ाकर 1 करोड़ से अधिक करने में मदद मिलनी चाहिए। वर्तमान में, जैगल के 4 लाख से अधिक कार्ड पूरे भारत में सर्कुलेशन में है। येस बैंक के साथ अपने प्रीपेड कार्ड के लाॅन्च के साथ, जैगल ने अब अपने मौजूदा वीजा प्रीपेड उपकरण प्लेटफाॅर्म में मास्टर कार्ड को जोड़ दिया है, और इस प्रकार, अपने मौजूदा एवं नये दोनों ही उपयोगकर्ताओं को उनकी पसंद के किसी भी प्लेटफाॅर्म पर ट्रांजेक्शन करने की आजादी दे दी है।

जैगल, फाणी एन राज के मस्तिष्क की उपज है। जैगल के संस्थापक एवं अध्यक्ष, फाणी एन राज बी2बी ग्राहकों के लिए पेशकश तैयार करना चाहते थे और उन्होंने इसे हासिल करने के लिए प्रीपेड कार्ड इंडस्ट्री को उपयुक्त साधन पाया। वह बताते हैं, ‘‘लोगों द्वारा वाउचर्स को रिडीम करने की प्रवृत्ति में हमें भारी बदलाव नजर आ रहा है और फलस्वरूप, अपनी बी2सी पेशकशों को मजबूत बना रहे हैं। हम इसे प्रीपेड कार्ड्स इंडस्ट्री के लिए भारी विकास के वाहक के रूप में देखते हैं। जैगल शीघ्र ही वर्चुअल कार्ड्स के साथ आयेगा।’’

अविनाश गोदखिंडी ने कहा, ‘‘येस बैंक के साथ की गई साझेदारी जैगल के लिए एक महत्वपूर्ण संबंध है और हम गिफ्ट कार्ड्स के लाॅन्च को फिजिकल कार्ड्स, वर्चुअल कार्ड्स एवं मोबाइल ऐप्स जैसे अनेक फाॅर्म फैक्टर्स में काॅर्पोरेशंस एवं उपभोक्ताओं के लिए अनेक बी2बी एवं बी2सी पेशकशों की नई शुरूआत के रूप में देखते हैं। हमारी सभी पेशकशों का आधार साझेदारों और उपभोक्ताओं के लिए मूल्य और विकल्पों को अधिक से अधिक बढ़ाना है। उपयोगकर्ता निर्बाध एवं सर्वव्यापी अनुभव चाहते हैं और इस साझेदारी से, जैगल यह उपलब्ध कराने के लिए पूरी तरह से तैयार है। उदाहरण के लिए, हाल ही में लाॅन्च किया गया जैगल रेस्टाॅरेंट कैश बैक ऐप्प के प्रति भारी रूझान देखने को मिला है और मात्र 50 दिनों में इसे 50,000 बार डाउनलोड किया जा चुका है और वो भी उपयोगकर्ताओं को बिना फ्रीबिज की पेशकश किये। इसका कारण यह है कि ये उपयोगकर्ताओं को निर्बाध अनुभव, अधिकतम विकल्प एवं भारी मूल्य प्रदान करता है।’’