क्रीड़ा अधिकारी व कोच स्टेडियम में ट्रैकसूट पहनकर जाएँ: खेल मंत्री

क्रीड़ा अधिकारी व कोच स्टेडियम में ट्रैकसूट पहनकर जाएँ: खेल मंत्री

लखनऊ: सभी क्रीड़ा अधिकारी गणतंत्र दिवस के कार्यक्रमों में आयोजित होने वाली दौड़ एवं साइकिल रेस का वृहद स्तर पर प्रचार-प्रसार करायें जिससे ग्रामीण क्षेत्रों से प्रतिभाएं निकल कर आयंे। सभी तरणतालों का शुभारम्भ आगामी 01 अप्रैल से कराना सुनिश्चित करें। साल में दो बार कार्यशाला आयोजित करें, जिसमें बड़े खिलाड़ियों को आमंत्रित कर बच्चों का मार्गदर्शन करें। यह विचार खेल एवं युवा कल्याण राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) राम सकल गुर्जर ने आज यहां बापू भवन स्थित सभागार में खेल विभाग की समीक्षा बैठक में व्यक्त किये । 

श्री गुर्जर ने प्रमुख सचिव को निर्देश दिये कि क्रीड़ा अधिकारी व कोच स्टेडियम में ट्रैकसूट पहनकर जायें तथा वे मुख्यालय पर रहना सुनिश्चित करें, जिससे बच्चों की समस्याओं को दूर किया जा सके। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिये कि वे अवकाश स्वीकृत कराते समय निदेशालय को सूचित करें तथा अपडेट सूचनाओं के साथ बैठक में प्रतिभाग करें। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिये कि सबके सहयोग से स्टेडियम ठीक करायें तथा ग्रामीण क्षेत्रों से प्रतिभाओं की खोज करें और निर्माण कार्यों का इस्टीमेट अपने सामने बनवायें।

खेल मंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि गणतंत्र दिवस पर साइकिल रेस का आयोजन करें तथा उसमें विजयी प्रतिभागियों को पुरस्कृत करें। उन्होंने कहा कि इसमे प्रथम स्थान पाने वाले को 3100 रूपये, द्वितीय स्थान पाने वाले 2100 रूपये तथा तृतीय स्थान पाने वाले प्रतिभागियों को 1100 रूपये पुरस्कार स्वरूप दिये जायेंगे। इसके साथ ही तीन बालिकों एवं तीन बालिकाओं को 500-500 रूपये के सान्त्वना पुरस्कार भी दिये जायें।

प्रमुख सचिव खेल एवं युवा कल्याण श्रीमती अनिता भट्नागर जैन ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि छात्रावास में रहने वाले बच्चों का तुलनात्मक मूल्यांकन व प्रगति प्रस्तुत करें तथा जनपद स्तर पर अवस्थापनापरक सुविधाओं का विकास करना सुनिश्चित करें। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिये कि लखनऊ तरणताल का संचालन समय पर  सुनिश्चित किया जाये। 

समीक्षा बैठक के दौरान खेल निदेशक आर0पी0 सिंह तथा जनपद स्तरीय क्रीड़ा अधिकारी उपस्थित थे।  

Lucknow, Uttar Pradesh, India