मसूद अजहर की हिरासत पर झूठ बोल रहा है पाक!

मसूद अजहर की हिरासत पर झूठ बोल रहा है पाक!

नई दिल्‍ली : पठानकोट में एयरफोर्स बेस पर हुए आतंकी हमले के सिलसिले में जैश-ए-मोहम्मद के प्रमुख मसूद अजहर को हिरासत में लिए जाने को लेकर बीते कई दिनों से भ्रम की स्थिति बनी रही। सूत्रों के हवाले से मीडिया की कई रिपोर्टों में अब यह बताया गया है कि जैश-ए-मोहम्‍मद प्रमुख मसूद अजहर पाकिस्‍तान में आजाद घूम रहा है। गौर हो कि इसी मामले के चलते भारत-पाक के बीच विदेश सचिव स्तर की वार्ता को टाल दिया गया था तथा पाकिस्तान ने कहा कि नई तारीखें तय की जा रही हैं। अजहर मसूद के खिलाफ कार्रवाई को लेकर भारत अब पाकिस्‍तान को डोजियर सौंपने की तैयारी कर रहा है।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, पाकिस्तान स्थित आतंकी समूह जैश ए मोहम्मद के प्रमुख मौलाना मसूद अजहर को गिरफ्तार नहीं किया गया है तथा उसे नजरबंद भी नहीं किया गया है। जबकि उसके तीन कनिष्ठ सहयोगियों को जिस मामले में हिरासत में लिया गया है उसका पठानकोट आतंकी हमले से संबंध नहीं है। खुफिया जानकारियों के हवाले से सरकारी अधिकारियों ने बताया कि अजहर के खिलाफ पठानकोट आतंकी हमले के सिलसिले में कोई मामला दर्ज नहीं किया गया है तथा भारत में कई हमलों के लिए जिम्मेदार आतंकी समूह के नेता के खिलाफ कोई कार्रवाई होते दिखी नहीं है।

सूत्रों के हवाले से बताया गया है कि पाकिस्तानी सुरक्षा एजेंसियों ने जैश के तीन कनिष्ठ स्तर के पदाधिकारियों को हिरासत में लिया है किन्तु उन्हें कुछ दस्तावेजों के सिलसिले में पकड़ा गया है और इसका दो जनवरी को पठानकोट वायुसेना अड्डे पर हुए हमले से कोई लेनादेना नहीं है। पठानकोट हमले में सात सुरक्षाकर्मी शहीद हुए थे जबकि छह आतंकवादियों को ढेर कर दिया गया था। अधिकारियों ने कहा कि पठानकोट घटना के बाद अजहर को हिरासत में लिये जाने की शुरुआती खबरें पूरी तरह गलत थीं और संदेह है कि इन्हें कुछ पाकिस्तानी एजेंसियों ने फैलाया है। पाकिस्तान ने अभी तक भारत को सूचित नहीं किया है कि उसने जैश या उसके किसी कार्यकर्ता के खिलाफ पठानकोट हमले को लेकर कोई आपराधिक मामला दर्ज किया है।

सूत्रों के अनुसार, अजहर मसूद और जैश ए मोहम्‍मद के खिलाफ कार्रवाई को लेकर भारत अब पाकिस्‍तान को डोजियर सौंपेगा। 70 पन्‍नों के इस डोजियर को पाकिस्‍तान को दो दिनों के अंदर सौंपे जाने की संभावना है। सूत्रों के अनुसार, डोजियर में मसूद अजहर, हाफिज सईद और दाऊद इब्राहिम का कच्‍चा चिट्ठा शामिल किए जाने की संभावना है। 

सूत्रों के अनुसार, पाकिस्‍तान में मसूद अजहर की गिरफ्तारी नहीं हुई है और आतंकी संगठन जैश ए मोहम्‍मद पर भी कोई कार्रवाई नहीं की गई है। सूत्रों के अनुसार, मसूद के खिलाफ कार्रवाई की झूठी खबर मीडिया में प्‍लांट की गई। पाक मीडिया में मसूद और जैश पर कार्रवाई की खबर झूठी निकली। खुफिया सूत्रों के अनुसार, मसूद अजहर न तो गिरफ्तार हुआ है और न ही उसे नजरबंद किया गया है। बताया जा रहा है कि मसूद अजहर पाकिस्‍तान में आजाद घूम रहा है और उसके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई है।  

गौर हो कि पंजाब प्रांत के कानून मंत्री राणा सनाउल्ला ने बीते दिनों डान न्यूज को बताया था कि पठानकोट भारतीय वायुसेना अड्डे पर हुए हमले के षड्यंत्रकर्ता माने जाने वाले अजहर को ‘एहतियाती हिरासत’ में लिया गया है और उसे गिरफ्तार नहीं किया गया है। सनाउल्लाह ने कहा था कि हमने मौलाना अजहर और उसके साथियों को पठानकोट घटना के सिलसिले में एहतियात के तौर पर हिरासत में लिया है। बहरहाल अगर पठानकोट हमले में उसकी संलिप्तता साबित होती है तो हम उसे गिरफ्तार कर लेंगे। बहरहाल, केन्द्र की सरकार ने अजहर की हिरासत की पुष्टि नहीं की है। भारत ने पठानकोट हमले में शामिल जैश के संदिग्ध आतंकवादियों को पकड़ने के लिए मुहैया कराये गये सबूतों पर पाकिस्‍तान से कार्रवाई करने को कहा है। भारत ने इस वार्ता के बारे में फैसले को पाकिस्‍तान की ओर से की जाने वाली कार्रवाई से जोड़ दिया है।