बसपा उम्मीदवार को मंहगी पड़ी फेस बुक पोस्ट

बसपा उम्मीदवार को मंहगी पड़ी फेस बुक पोस्ट

अलीगढ। फेसबुक पर पोस्ट की गई एक इमेज से कथित रूप से नाराज होकर बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की अध्यक्ष मायावती ने जिले की अतरौली सीट से 2017 में होने वाले उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए पार्टी की घोषित उम्मीदवार संगीता चौधरी का टिकट काट दिया।

बताया जाता है कि मायावती फेसबुक पर संगीता चौधरी द्वारा पोस्ट की गई एक तस्वीर को लेकर बेहद खिन्न थीं जिसमें संगीता चौधरी ने मायावती के दोनों पैर पकड़े हुए हैं और मायावती ने भी उनके सिर पर हाथ रखा हुआ है। इस पोस्ट की कुछ लोगों ने खूब आलोचना की जिससे पार्टी नेतृत्व नाराज हो गया। इस बीच, चौधरी ने संवाददाताओं से बातचीत करते हुए कहा कि उन्होंने कभी सोचा ही नहीं था कि एक फेसबुक पोस्ट की वजह से इतना बखेडा खडा हो जाएगा।

उन्होंने कहा, 'मैं अपनी समस्याओं पर चर्चा करने और एक साल पहले अपने पति की हत्या के बाद अपनी राजनीतिक महत्वाकांक्षाओं को पूरा करने में आ रही दिक्कतों तथा अन्य मामलों पर पर चर्चा करने के लिए बहनजी (मायावती) से मिली थी। मैने यह तस्वीर फेसबुक पर महज अपने विरोधियों को यह जताने के लिए अपलोड की थी कि बहनजी का हाथ मेरे ऊपर है। लेकिन पार्टी कोआर्डिनेटर द्वारा मुझे बुलाकर जब यह कहा गया कि बहनजी मेरे द्वारा फेसबुक पर साझा की गई तस्वीर को लेकर नाराज हैं ओर मेरा टिकट काट दिया गया । यह सुनकर मुझे बहुत धक्का लगा।'

इस घटना के लिए क्षमा याचना को तैयार चौधरी ने कहा कि बहनजी अभी मुझसे नाराज हैं लेकिन जब उनका गुस्सा कम हो जाएगा तब मैं उनके पास जाकर अपनी गलती की माफी मांग लूंगी। चौधरी राज्य विधान सभा के होने वाले चुनाव में अतरौली सीट से अपनी जीत को लेकर बेहद आश्वस्त थी। उनका कहना था कि क्षेत्र में उनके पति धर्मेन्द्र चौधरी के लिए सहानुभूति है ।

चौधरी को अतरौली सीट से बसपा ने अगले विधान सभा चुनाव के लिए पहले अपना उम्मीदवार घोषित किया था लेकिन जनवरी 2015 में उनकी हत्या कर दी गयी थी। अलीगढ जिले में हाल में सम्पन्न जिला पंचायत चुनाव में बसपा ने शानदार प्रदर्शन किया और पार्टी के उम्मीदवार 33 वर्षीय उपेन्द्र सिंह प्रदेश में सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी की उम्मीद्वार नीतू सिंह को बडे अन्तर से पराजित करके निर्वाचित घोषित हुए थे।