आईसीआईसीआई ने मुंबई में खोला अपना पहला कौशल विकास केंद्र

आईसीआईसीआई ने मुंबई में खोला अपना पहला कौशल विकास केंद्र

मुंबई: आईसीआईसीआई एकेडमी फाॅर स्किल्स (आईसीआईसीआई एकेडमी) ने आर्थिक रूप से कमजोर युवाओं को व्यवसायिक प्रशिक्षण प्रदान करने के लिए आज मुम्बई में अपने पहले केंद्र का शुभारंभ किया ताकि स्थायी जीवनयापन में उनकी सहायता की जा सके। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री, देवेंद्र फड़नवीस ने इस केद्र का उद्घाटन किया। 

यह केंद्र पांच विषयों में कोर्स प्रदान करेगा, अर्थात इलैक्ट्रिक एवं घरेलु उपकरण रिपेयर, रेफ्रिजरेशन एवं एसी रिपेयर, टू एवं थ्री व्हीलर सर्विस टेक्निसीयन, बिक्री कौशल और कार्यालय प्रशासन में। आईसीआईसीआई एकेडमी ने कोर्स पाठ्यक्रम और विषयवस्तु का सहनिर्माण करने के लिए ’नाॅलिज पार्टनर’ के रूप में विभिन्न उद्योग लीडरों के साथ समझौता किया है, जो प्रैक्टिकल प्रशिक्षण प्रयोगशालाओं को स्थापित करने और प्रशिक्षकों के लिए प्रशिक्षण की व्यवस्था करने में सहायता करता है। प्रशिक्षित युवाओं को रोजगार के अवसर प्रदान करने के लिए भी इसने उद्योग पार्टनरों के साथ भी हिस्सेदारी की है। इन कोर्सों के पाठ्यक्रम में उद्योग से संबंधित व्यवसायिक प्रशिक्षण और जीवन कौशल शामिल हैं जैसे काॅम्युनिकेशन और वित्तीय जानकारी। इस प्रशिक्षण की अवधि 12 सप्ताह है। इस कोर्स की योग्यता आठवीं पास है और आयु 18 से 30 वर्ष के बीच होनी चाहिए। 

आईसीआईसीआई बैंक की एमडी एवं सीईओ चंदा कोचर ने बताया, 'हमने राष्ट्र के सामाजिक-आर्थिक विकास के अपने प्रयास में कौशल विकास को एक महत्वपूर्ण क्षेत्र के रूप में पहचाना। मानव बल उपलब्धता और रोजगारपरक-योग्यता के बीच के भारी अंतर को दूर करना महत्वपूर्ण है, ताकि सभी के लिए आगे बढ़ने और उन्नति करने के लिए स्थायी आजीविका के अवसर उपलब्ध कराया जा सके।