वहाबी आतंकवाद शांति के लिए खतरा: इंजी शुजाअत

वहाबी आतंकवाद शांति के लिए खतरा: इंजी शुजाअत

मुस्लिम स्टूडेंट्स आर्गेनाइजेशन ने पेरिस हमले की कड़ी निंदा की 

नई दिल्ली: पेरिस में हुए आतंकवादी हमले की कड़ी निंदा करते हुए मुस्लिम स्टूडेंट्स आर्गेनाइजेशन ऑफ इंडिया के राष्ट्रीय महासचिव इंजीनियर शुजाअत अली कादरी ने कहा कि हमारी  संगठन आतंकवादी हमलों में मारे गए लोगों के परिजनों के साथ खड़ी है और इस बात पर दुख ज़ाहिर करती है और आतंकवादी संगठन आईएस की कड़ी निंदा करती है उन्होंने कहा कि आईएस के आतंकवादी आए दिन कहीं न कहीं मानवता का उल्लंघन करते रहते हैं। आज पूरी दुनिया के लोग आतंकवाद के खिलाफ खड़े हुए हैं फिर भी वहाबी आतंकवादी खूनी खेल खेलने में सफल हो जाते हैं, और उनकी सफलता की वजह यह है कि इन आतंकवादियों के तमाम आतंकवादी गतिविधियों की सरपरस्ती सऊदी हुकूमत करती है. सऊदी के सत्ता धारी  न केवल इस्लामी दुनिया में हो रहे आतंकवादी गतिविधियों में लिप्त हैं बल्कि वहां की वहाबी फ़िक्र  से प्रभावित सत्ता दुनिया के सभी देशों में लोगों  की हत्या करा रहे हैं इसलिए जरूरी है कि दुनिया के सभी शांतिप्रिय लोग वहाबी आतंकवाद  के खिलाफ सीना सुपर हो जायें , उन्होंने कहा कि वहाबियों की आतंकवादी संगठन पूरी दुनिया में दंगा, विनाश और बेगुनाह इंसानों की हत्या का कारण बन रही हैं और यह हर व्यक्ति का कर्तव्य है कि उनके नापाक इरादों को रोकने के लिए परयास करें, इंजीनियर शुजाअत अली कादरी ने कहा कि वहाबी आतंकवादियों के कदम जिस देश में भी पड़ गए हैं वहां शांति समाप्त हो गयी  है इसलिए हमें उन पर नजर रखने की जरूरत है अगर हमारे देश में वहाबी फ़िक्र पर काम करने वाला कोई  व्यक्ति मौजूद है तो देश की खुफिया एजेंसियों को इस पर कड़ी नजर रखनी चाहिए ताकि हमारा देश उनके आतंकवादी कार्रवाईयों से सुरक्षित रह सके . शुजाअत अली कादरी ने कहा कि पेरिस में होने वाला आतंकवादी हमला घृणित है इसमें शामिल लोगों को सख्त से सख्त सजा होनी चाहिए, इंजीनियर शुजाअत अली कादरी ने भारत सहित सभी शांतिप्रिय देशों से जोर देकर कहा कि अब सिर्फ निंदा से काम नहीं चलेगा बल्कि वहाबी आतंकवाद के खिलाफ कठोर कदम उठाना होगा, वहाबी  आतंकवाद एक अंतर्राष्ट्रीय समस्या बन गया  है इसलिए वहाबी आतंकवादियों को खत्म करने के लिए जवाब भी अंतर्राष्ट्रीय  होना चाहिए।

India