मारा गया 'जिहादी जॉन'!

मारा गया 'जिहादी जॉन'!

वॉशिंगटन। इस्लामिक स्टेट के सिर कलम करने वाले वीडियोज में अक्सर काले कपड़े पहने हाथ में चाकू लिए नजर आने वाले आतंकी जॉन पर अमरीका ने हवाई हमला किया है। गुरुवार को किए गए इस हमले में कुछ अमरीकी अधिकारी जिहादी जॉन के मारे जाने का दावा कर रहे हैं, हालांकि अमरीकी रक्षा मुख्यालय पेंटागन का कहना है कि वह पता लगा रही है कि इस हमले में ब्रिटिश आतंकी जिहादी जॉन उर्फ मोहम्मद एमवाजी की मौत हुई है या नहीं।

पेंटागन ने यह जरूर स्वीकार किया है कि इस्लामिक स्टेट के वीडिया में पश्चिमी बंधकों का सिर कलम करने हुए देखे जाने वाले जिहादी जॉन को निशाना बनाकर हवाई हमला किया गया था। पेंटागन के प्रेस सेक्रेटरी पीटर कुक ने कहा, 'हम रात को चले अभियान के नतीजे का इंतजार कर रहे हैं और जैसे ही कोई और खबर मिलती है इसकी जानकारी दी जाएगी।'

अमरीकी अफसरों से मिली जानकारी के मुताबिक यूएस मिलिट्री ने गुरुवा को सीरिया के रक्का शहर में ड्रोन से जिहादी जॉन की गाड़ी को निशाना बनाया।

27 वर्षीय जिहादी जॉन ब्रिटेन में रहने वाला कुवैती था। वह कंप्यूटर साइंस में ग्रेजुएट था। वह वर्ष 2013 में आईएस में शामिल होने के लिए सीरिया पहुंचा था। दो अमरीकी पत्रकारों जेम्स फोले (40) व स्टीवन सोटलॉफ (31) के सिल कलम कर वीडियो जारी करने के बाद जिहादी जॉन चर्चा में आया। इसके बाद वह दो ब्रिटिश नागरिक डेविड हैंस (44) व ऐलन हेनिंग (47) समेत सात बंधकों के सिल कलम में भी शामिल रहा। वह 2014 से अब तक आईएस की ओर से जारी सात वीडियोज में नजर आ चुका है।