सुनंदा के शरीर में नहीं मिला कोई  रेडियोएक्टिव पदार्थ: एफबीआई

सुनंदा के शरीर में नहीं मिला कोई रेडियोएक्टिव पदार्थ: एफबीआई

नई दिल्ली। कांग्रेस लीडर शशि थरुर की पत्नी सुनंदा पुष्कर की मौत के मामले में एक नया खुलासा हुआ है। मामले की जांच कर रही यूएस की एजेंसी एफबीआई (फेडरल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन) ने अपनी फोरेंसिक रिपोर्ट में कहा है कि सुनंदा की मौत किसी जहर जैसे पोलोनियम या किसी अन्य रेडियोएक्टिव पदार्थ के कारण नहीं हुई है। एफबीआई द्वारा दिल्ली पुलिस को दिए रिपोर्ट के अनुसार सुनंदा के शरीर में किसी भी रेडियोएक्टिव पदार्थ के अंश नहीं मिले हैं।

गौरतलब है कि 51 वर्षीय सुनंदा को 17 जनवरी 2014 को रहस्यमय परिस्थिति में दिल्ली एक होटल में मृत पाया गया था। उन्होंने 2010 में कांग्रेस नेता शशि थरूर से विवाह किया था। पुलिस ने सुनंदा की मौत के बाद 1 जनवरी 2015 को अज्ञात लोगों के खिलाफ सुनंदा को जहर देकर मारने के आरोप में मामला दर्ज किया था।

इसके बाद मामले की जांच करते हुए एम्स के डॉक्टरों के पैनल ने कहा था कि सुनंदा के शरीर में पाए गए जहर का पता किसी भी भारतीय लैब में नहीं लगाया जा सकता, जिसके बाद सुनंदा के विसरा सैंपल फरवरी में वाशिंगटन स्थित एफबीआई लैब को जांच के लिए भेजे गए थे।

इस मामले को लेकर पुलिस ने किसी का नाम तो नहीं बताया था लेकिन थरूर के दोस्त संजय दीवान, घरेलू कर्मचारी नारायण सिंह और ड्राइवर बजरंगी सहित 6 लोगों का पॉलीग्राफ टेस्ट कराया था।

India