बिहार में भाजपा की विभाजनकारी राजनीति की हार : भाकपा (माले)

बिहार में भाजपा की विभाजनकारी राजनीति की हार : भाकपा (माले)

लखनऊ। भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (माले) ने बिहार विधानसभा के चुनाव परिणामों पर कहा है कि यह नरेन्द्र मोदी व भाजपा की विभाजनकारी राजनीति, वादाखिलाफी व बड़बोलेपन की हार है, जिसका फायदा महागठबंधन को मिला। पार्टी ने राजग की विनाशकारी नीतियों के खिलाफ जबर्दस्त जनादेश देने के लिए बिहार के नागरिकों को तहेदिल से धन्यवाद दिया है।

पार्टी के उ. प्र. राज्य सचिव रामजी राय ने कहा कि भाकपा (माले) को तीन सीटों (सिवान जिले में दरौली, आरा जिले में तरारी और कटिहार जिले में बलरामपुर की सीट) पर जीत मिली है और कई सीटों पर वाम दलों के प्रत्याशी दूसरे व तीसरे स्थान पर रहे। वाम मोर्चे का ऐसा बेहतर प्रदर्शन वाम एकता को मजबूत करने वाला और जनोन्मुखी विकास, जनाधिकारों, न्याय और धर्मनिरपेक्षता के लिए चलने वाले संघर्षों को आगे बढ़ायेगा। उन्होंने कहा कि यह जनादेश देशभर में लोकतंत्र के बचाव में चल रहे किसानों, मजदूरों, छात्रों, लेखकों, वैज्ञानिकों और बुद्धिजीवियों के आंदोलनों को भी प्रेरणा देगा।

Lucknow, Uttar Pradesh, India