गौहत्या और बीफ की शिकायत के लिए दक्षिणपंथियों ने खोली हेल्पलाइन

गौहत्या और बीफ की शिकायत के लिए दक्षिणपंथियों ने खोली हेल्पलाइन

रांची। भाजपा शासित झारखंड में दक्षिपंथी समूहों ने एक ऐसी हेल्पलाइन शुरू करने की घोषणा की है जिस पर गौहत्या एंव बीफ व्यवसाय से संबंधित शिकायतें की जा सकेंगी। विश्व हिंदू परिषद, शिव सेना और बजरंग दल मिलकर अगले साल इस सेवा को हरी झंडी दे सकते हैं। उनका कहना है कि इससे लोगों में हिंदू धर्म के प्रति भावनाएं जागृत होंगी।

रांची के विश्व हिंदू परिषद के अध्यक्ष सुमन स्वरूप ने कहा कि, "इस हेल्पलाइन पर गौहत्या और बीफ बिक्री जैसी घटनाओं की ही शिकायतें ली जाएंगी। इस पर सभी हिंदू भाई कानूनी तौर पर मेडिकल और व्यापारिक सहायता ले सकेंगे।" उऩ्होंने कहा कि लोग हमारे माध्यम से अवैध गौहत्या की शिकायत दर्ज करा सकते हैं। हम इसे गौरक्षा समिति को भेजेंगे जो कि इस जानकारी को पुलिस तक पहुंचा देगी।

गौरतलब है कि दादरी के बिसहाड़ा गांव में अखलाक की हत्या के बाद से गौहत्या और बीफ एक अहम मुद्दा बन गया है। क्योंकि तथाकथित रूप से अखलाक की हत्या इसलिए कर दी गई थी क्योंकि उसके घर में बीफ होने की अफवाह उड़ी थी। भाजपा शासित तमाम राज्यों में इस घटना के बाद से गौहत्या एंव बीफ से जुड़े तमाम कड़े नियम बनाए हैं। लेकिन इन नियमों का विभिन्न अल्पसंख्यक समाज के लोगों द्वारा विरोध किया जा रहा है।

शुक्रवार को अज्ञात संस्था के एक नेता ने सड़क पर उतर कर बीफ खाया जो कि एक प्रकार से बीफ बैन किए जाने का विरोध प्रदर्शन था। झारखंड शिवसेना के सचिव संदीप मुखर्जी ने कहा कि, "हमें ही सड़क पर उतर कर अवैध गौहत्या को रोकना होगा जब तक कि पुसिस इस बारे में कोई गंभीर कदम नहीं उठाती।" उन्होंने बताया कि लगभग 100 एक्टिविस्ट और हिंदू शिव सैनिकों को इसके लिए तैयार किया जाएगा जो कि फोन कॉल के बाद स्वयं घटनास्थल पर पहुंचेंगे।

झारखंड पुलिस के एडीजी एसएन प्रधान ने कहा कि, "हमें कोई आपत्ति नहीं है यदि वह कहीं पर अवैध रूप से हो रहे गौहत्या की घटना की हमसे शिकायत करते हैं, लेकिन उनके द्वारा किया गया किसी भी तरह का दंगा पुलिस द्वारा बरदाश्त नहीं किया जाएगा।

India