बिहार चुनाव: चौथे चरण में 57.59 प्रतिशत मतदान

बिहार चुनाव: चौथे चरण में 57.59 प्रतिशत मतदान

पटना: बिहार विधानसभा चुनाव के चौथे चरण के तहत राज्य के सात जिलों पश्चिम चंपारण, पूर्वी चंपारण, शिवहर, सीतामढ़ी, मुजफ्फरपुर, गोपालगंज और सीवान के कुल 55 विधानसभा क्षेत्रों में रविवार शाम 5 बजे समाप्त हुए मतदान में 57.59 प्रतिशत वोट पड़े।

अपर मुख्य निर्वाचन अधिकारी आर लक्ष्मणन ने यह जानकारी देते हुए बताया कि शाम 5 बजे तक पश्चिम चंपारण में 59.17 प्रतिशत, पूर्वी चंपारण में 59.96 प्रतिशत, शिवहर में 56.05 प्रतिशत, सीतामढी में 56.09 प्रतिशत, मुजफ्फरपुर में 56.83 प्रतिशत, गोपालगंज में 58.90 प्रतिशत और सीवान में 54.31 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया।

बिहार विधानसभा के चौथे चरण के तहत जिन 55 विधानसभा क्षेत्रों में सोमवार को मतदान सुबह सात बजे शुरू हुआ उनमें से 12 नक्सल प्रभावित विधानसभा क्षेत्रों में शिवहर जिले के चार, सीतामढी जिले के रीगा एवं रून्नीसैदपुर और बेलसंड विधानसभा क्षेत्र में सुरक्षा के मद्देनजर मतदान दोपहर तीन बजे समाप्त हो गया।

लक्ष्मणन ने बताया कि आठ विधानसभा क्षेत्रों पश्चिम चंपारण जिले के वाल्मीकिनगर एवं रामनगर, पूर्वी चंपारण जिले के मधुबन, चिरैया एवं ढाका तथा मुजफ्फरपुर जिले के मीनापुर, साहेबगंज एवं पारू पर शाम चार बजे मतदान समाप्त हो गया तथा बाकी 43 विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों में मतदान शाम 5.00 बजे तक चला।

सातों जिलों में मतदान शांतिपूर्ण ढंग से जारी है लेकिन शिवहर जिले के शिवहर विधानसभा क्षेत्र के बैरिया पंचायत के मतदान केंद्र संख्या 50 पर दो उम्मीदवारों के समर्थकों के बीच झड़प होने के कारण कुछ देर के लिए मतदान बाधित हुआ। नक्सल प्रभावित शिवहर जिले से प्राप्त सूचना के अनुसार समाजवादी पार्टी और हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा (सेक्युलर) के समर्थकों के बीच उक्त झड़प बैरिया मध्य विद्यालय में स्थित मतदान केंद्र संख्या 50 के बाहर हुई।

पूर्वी चंपारण जिले के कल्याणपुर विधानसभा क्षेत्र के कोटवा प्रखंड के महारानी भोपट पंचायत अंतर्गत मतदान केंद्र संख्या 74 एवं 77 पर बिजली की अनुपलब्धता को लेकर वोट के बहिष्कार की सूचना है।

पूर्वी चंपारण जिले के रक्सौल विधानसभा क्षेत्र के पुरंदरा पंचायत क्षेत्र में मध्य विद्यालय स्थित मतदान केंद्र संख्या 69, 70 एवं 71 पर तैनात किए गए होमगार्ड जवान महादेव प्रसाद की शनिवार रात दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गई। रक्सौल अनुमंडल अधिकारी श्रीप्रकाश ने बताया कि उक्त जवान गया जिले के झनकपुर गांव का निवासी था।

बिहार विधानसभा के चौथे चरण के चुनाव में कुल 776 उम्मीदवारों में 57 महिलाएं शामिल हैं। इसमें प्रमुख प्रत्याशियों में वरिष्ठ मंत्री रमई राम (बोचहा), रंजू गीता (बाजपट्टी) और मनोज कुशवाहा (कुढनी) तथा पूर्व मंत्री सुनील कुमार पिंटू (सीतामढी) शामिल हैं। रमई राम 1972 से अब तक नौ बार विजयी रहे हैं। वह दसवीं बार प्रवेश पाने के लिए अपना भाग्य आजमा रहे हैं जिन्हें एलजेपी प्रमुख रामविलास पासवान के दामाद अनिल साधु चुनौती दे रहे हैं। एलजेपी से टिकट नहीं मिलने से नाराज अनिल साधु को बाद में बोचहा से पार्टी ने उम्मीदवार बनाया।

आरजेपी सुप्रीमो लालू प्रसाद के पैतृक स्थान गोपालगंज के हथुआ विधानसभा क्षेत्र से निवर्तमान विधायक रामसेवक सिंह को जेडीयू ने अपना उम्मीदवार बनाया है, जिनका मुकाबला हिंदुस्तानी अवाम मोर्च (सेक्युलर) के उम्मीदवार और पूर्व मंत्री महाचंद्र प्रसाद सिंह से है।

चुनाव में बीजेपी का एलजेपी, रालोसपा एवं हम (सेक्युलर) से गठबंधन है, जिसकी मुख्य टक्कर सत्तासीन जेडीयू-आरजेडी-कांग्रेस गठबंधन से है। भाकपा पांच अन्य वामदलों माकपा, भाकपा माले, फारवर्ड ब्लॉक, एसयूसीआई (सी) एवं आरएसपी के साथ चुनाव मैदान में है। मुलायम सिंह यादव की समाजवादी पार्टी शरद पवार की पार्टी एनसीपी सहित चार अन्य दलों के साथ तीसरा मोर्चा बनाकर इस बार चुनावी मैदान में उतरी थी, पर बाद में तीसरा मोर्चा बिखर गया।

India