शिवसेना ने बीजेपी को फिर धमकाया

शिवसेना ने बीजेपी को फिर धमकाया

कहा--अहंकार नहीं छोड़ा तो तोड़ देंगे गठबंधन 

मुंबई: शिवसेना बीजेपी के बीच की जुबानी जंग शुक्रवार को बेहद रोचक हो गई। दोनों दलों के नेताओं ने एक-दूसरे की बेइज्जती करने में कोई कसर नहीं छोड़ी। जिसकी वजह से मुम्बई से सटे कल्याण-डोंबिवली निकाय चुनाव में प्रचार का स्तर बेहद गिर गया।

इस प्रचार के आखरी दिन के नाटकीय घटनाक्रम में राज्य के लोकनिर्माण मंत्री एकनाथ शिंदे ने अपने पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे को सभा के मंच पर मंत्री पद का इस्तीफ़ा सौप दिया। शिंदे ने आरोप लगाया कि राज्य की पुलिस शिवसेना को प्रचार करने से रोक रही है।

उद्धव ठाकरे ने अपने भाषण में इस मुद्दे पर बीजेपी को घेर लिया। वे बोले, किसी अकेले का नहीं, शिवसेना चाहे तो पूरे मंत्रिमंडल का इस्तीफ़ा ले लेगी। बीजेपी अगर इसी तरह मगरूर बनी रही तो शिवसेना सरकार से अपना समर्थन खींच लेगी।

इस जुबानी हमले के बाद सूबे के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस जवाब देने मैदान में उतरे। मुख्यमंत्री ने कहा, 'शिवसेना के मंत्री का इस्तीफ़ा झूठ है। शिवसेना नौटंकीबाज है और वोटर को इसके बहकावे में नहीं आना चाहिए।'

यही नहीं, जाते-जाते मुख्यमंत्री ने राज्य की सत्ता में सहयोगी पार्टी, शिवसेना को आतंकी संस्कृति पालनेवाली पार्टी करार देते हुए कहा, 'बीजेपी कार्यकर्ता का अपहरण कर शिवसेना क्या साबित करना चाहती है? इस बात की चुनाव आयोग के पास शिकायत की जाएगी।'

India