मोदी मन की बात कहा ही नहीं, सुना भी करें: आज़म

मोदी मन की बात कहा ही नहीं, सुना भी करें: आज़म

रामपुर। उत्तर प्रदेश के नगर विकास मंत्री आजम खां ने प्रधानमंत्री को नसीहत देते हुए कहा कि वह मन की बात कहा ही नहीं, सुना भी करें। मन की बात यह है कि देश की जनता महंगाई से परेशान है। दाल और सब्जी बहुत महंगी होने के चलते लोग मरा जानवर खा रहे हैं।

आज रामपुर में एक बाजार के उद्घाटन अवसर पर आजम ने कहा कि हमारे बादशाह दुनिया में घूम-घूमकर हिंदुस्तान की बदनामी कर रहे हैं। खुद प्रधानमंत्री ने कई बार यूएनओ जाकर देश में मानवाधिकार हनन के मामलों की चर्चा की है। कैलाश सत्यार्थी ने यूएनओ में बच्चों के अधिकार की बात की तो उन्हें नोबेल मिल गया और हम अगर गरीबों के साथ जुल्म के लिए एक पत्र भी लिख दें तो देशद्रोही कहे जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि जिम्मेदार लोगों द्वारा अपने लफ्जों से पूरे देश में आग लगाई जा रही है, लेकिन किसी को सजा नहीं मिली। आजम ने कहा कि मीडिया ने हमारे मोबाइल के बयान को भी तोड़ मरोड़कर दिखाया। हमने दुष्कर्म के लिए उकसाने वाली चीजों की मुखालफत की है न कि मोबाइल की।