स्याही काण्ड पर बिफरे फारुख अब्दुल्ला

स्याही काण्ड पर बिफरे फारुख अब्दुल्ला

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के निर्दलीय विधायक इंजीनियर राशिद के चेहरे पर स्याही फेंकने पर नेशनल कांफ्रेंस के नेता और पूर्व सांसद फारुख अब्दुल्ला ने सख्त लहजे में ऐतराज जताया है। उन्होंने कहा कि हम इंसानियत को अलग रखकर जंगी बन रहे हैं। हम देश को गुंडागर्दी से आगे बढ़ाने की कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि इंजीनियर रशीद ने गलती नहीं की। वे प्रेस कांफ्रेंस कर रहे थे और अपनी बात रखने का देश में सभी को हक है।

फारुख अब्दुल्ला ने कहा कि मैं यहीं से वॉर्निंग देना चाहता हूं कि जिस दिन आप ये सोचोगे कि ये देश सिर्फ हमारा है, उस दिन देश के टुकड़े देखने को तैयार रहना। मोदी जी 1.3 अरब हिन्दुस्तानियों के वजीर-ए-आजम हैं। उन्हें ये सहन नहीं करना चाहिए। उन्हें बिहार का चुनाव लड़ने के बजाए खड़े हो जाना चाहिए।

ये हिन्दुस्तान को तोड़ने की गहरी साजिश है। पहले ही माइनॉरिटी कम्यूनिटी डर गई है। ये पहले नहीं था। ये कश्मीरियों के लिए मुश्किल दौर है। जम्मू-कश्मीर और लद्दाख हिन्दुस्तान का हिस्सा बना तो सेक्यूलरिज्म के आधार पर बना। मुझे डर है कि कहीं ये ना कहना पड़ जाये कि जिन्ना की दो देशों की थ्योरी सही थी। गौरतलब है कि दिल्ली में निर्दलीय विधायक इंजीनियर राशिद के ऊपर कुछ लोगों ने अपना विरोध जताते हुए काली स्याही फेंकी है। पुलिस ने मौके से दो आरोपियों को हिरासत में ले लिया है और पूछताछ कर रही है।

India