गुजरात ने मैगी से बैन हटाया

गुजरात ने मैगी से बैन हटाया

नई दिल्‍ली: तीन अलग-अलग प्रयोगशालाओं से परीक्षण के सकारात्‍मक नतीजे आने के बाद गुजरात और कर्नाटक में मैगी से बैन हटा लिया गया है। मैगी के चाहनेवालों के लिए ये किसी ब्रेकिंग न्यूज से कम नहीं है।

गौरतलब है कि पिछले दिनों नेस्ले इंडिया ने जानकारी दी थी कि बॉम्‍बे हाईकोर्ट के निर्देश पर जांच के लिए तीन विनिर्दिष्ट प्रयोगशालाओं में भेजे गए मैगी ब्रांड इंस्टेंट नूडल्स के सभी नमूने सही निकले। इन परीक्षणों में खरा उतरने के बाद अब मैगी की एक बार फिर से बाजार में वापसी रास्ता खुल गया है।

मैगी में सीसे की मात्रा कानून के तहत तय सीमा से अधिक पाए जाने के बाद देशभर में इस पर प्रतिबंध लगाया दिया गया था। बॉम्‍बे हाईकोर्ट ने मैगी के नमनों का नए सिरे से परीक्षण का निर्देश दिया था।

कंपनी ने यह भी कहा कि अब वह नए उत्पादों का विनिर्माण और बिक्री तभी शुरू करेगी, जब उनको अधिकृत प्रयोगशालाओं की हरी झंडी मिल जाएगी।

नेस्ले इंडिया ने बयान में कहा था, ‘हमें बॉम्‍बे हाईकोर्ट के निर्देश के बाद तीनों बतायी गयी प्रयोगशालाओं में किए गए परीक्षण के नतीजे मिल गए हैं। तीनों प्रयोगशालाओं ने छह प्रकार के उत्पादों के सभी 90 नमूनों को उपयुक्त करार दिया है। इन सभी नमूनों में सीसे की मात्रा अनुमति योग्य सीमा के अंदर पायी गयी है।’ कंपनी ने पूर्व में कहा था कि उसकी योजना मैगी को इस साल के अंत तक बाजार में लाने की है। अब उसने कहा है कि वह मैगी नूडल्स को जल्द से जल्द बाजार में पेश करना चाहती है।