दोहरा शतक जड़ मलिक ने मनाया टेस्ट में वापसी का जश्न

दोहरा शतक जड़ मलिक ने मनाया टेस्ट में वापसी का जश्न

अबु धाबी : पांच साल बाद टेस्ट मैच खेल रहे शोएब ने आते ही अबु धाबी में दोहरा शतक ठोक दिया। 33वें टेस्ट में शोएब का यह पहला दोहरा शतक है। पाकिस्तान की ओर से टेस्ट में दोहरा शतक लगाने वाले वह 21वें बल्लेबाज़ बन गए हैं।

सानिया मिर्जा टेनिस कोर्ट पर अपनी दूसरी पारी में धूम मचा रही हैं। इस साल मार्टिना हिंगिस के साथ शोएब की पत्नी सानिया मिर्ज़ा ने 8 WTA खिताब जीते हैं जबकि कुल मिलाकर उन्होंने इस साल 9 खिताब अपने नाम किए हैं। इसमें उनका यूएस ओपन और विम्बलडन का खिताब भी शामिल है। इसी साल उन्हें राजीव गांधी खेल रत्न सम्मान से नवाजा गया है। टेनिस के जरिये यह सम्मान हासिल करने वाली वह सिर्फ दूसरी खिलाड़ी बन गईं।

भारत-पाकिस्तान की इस खिलाड़ी जोड़ी के लिए ये साल शानदार साबित हुआ है। कुछ दिनों पहले शोएब मलिक को दोबारा टेस्ट टीम में शामिल किया गया तो सवाल भी उठे। शोएब की वापसी उनके वनडे और टी20 के प्रदर्शन के आधार पर हुई थी। 33 साल के शोएब ने पिछला टेस्ट इंग्लैंड के ही ख़िलाफ़ 5 साल पहले खेला था। इससे पहले शोएब के नाम 32 टेस्ट मैचों में 2 शतकीय पारियां थीं, सर्वाधिक स्कोर नाबाद 148 रन के साथ।

अबु धाबी टेस्ट में शतक लगाकर शोएब ने सानिया मिर्ज़ा का शुक्रिया अदा किया और कहा कि उनकी इस पारी के पीछे सानिया की प्रेरणा है। टेस्ट के दूसरे दिन शोएब अपने सर्वाधिक स्कोर का आंकड़ा पार कर गए, वो भी बड़े स्टाइल से। शोएब ने इंग्लैंड के तेज़ गेंदबाज़ मार्क वुड को चौका लगाकर 150 का आंकड़ा छू लिया। फिर जेम्स एंडरसन की गेंद पर गली में शॉट लगाकर दो रन हासिल किए और दो सौ के आंकड़े को पार कर गए।

शोएब ने दोहरा शतक बनाकर मैदान को चूमा और अपनी पारी को इतिहास में दर्ज करवा दिया। दो सौ का आंकड़ा छूने में शोएब ने 367 गेंदों का सामना किया। दोहरे शतक तक पहुंचने में शोएब ने 21 चौके और 2 छक्के लगाए।