मुसलमानों और दलितों का शोषण रोकने में सरकार विफल: मलिक

मुसलमानों और दलितों का शोषण रोकने में सरकार विफल: मलिक

लखनऊ: पिछड़ा समाज महासभा ने राज्य सरकार से मुसलमानों और दलितों पर शोषण रोकने के लिए सख्त कदम उठाने की मांग की है। अगर इसी तरह से शोषण होता रहा तो राज्य सरकार के खिलाफ पिछड़ा समाज महासभा सार्वजनिक आंदोलन छेड़े गा । यह जानकारी आज यहाँ जारी एक बयान में पिछड़ा समाज महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष एहसानुल हक  मलिक ने दी.मालिक  ने यह भी कहा कि मुलायम सिंह यादव ने 18 प्रतिशत आरक्षण सच्चर कमेटी की रिपोर्ट लागू किए जाने बेकसूरों को  रिहा करने और 14 सूत्री मांगों का जिक्र अपने चुनावी घोषणापत्र में किया था। लेकिन वादे तो दूर इसके विपरीत मुसलमानों का नरसंहार दंगे महिलाओं के साथ बलात्कार बड़े पैमाने पर किया गया जैसा कि प्रतापगढ़ फैजाबाद, कोसी  कलां, मुजफ्फरनगर, कानपुर, गोंडा जैसी घटनाओं को भुलाया नहीं जा सकता है। मालिक  ने यह भी कहा कि इसी तरह दलित समाज पर भी जुल्म ढाए जा रहे हैं उन्हें बुनियादी अधिकारों से वंचित किया जा रहा है सामूहिक रूप से महिलाओं को निर्वस्त्र करके घुमाया जा रहा है उनका सामाजिक बहिष्कार किया जा रहा है और यह सिलसिला लगातार बढ़ रहा है ऐसी घटनाओं को रोकने में सरकार नाकाम रही है। ऐसा लगता है कि मुस्लिम व दलितों के खिलाफ सरकार द्वारा किसी साजिश के तहत आंदोलन चलाया जा रहा है। 

Lucknow, Uttar Pradesh, India