रोहित की मेहनत पर धोनी, रैना ने फेरा पानी

रोहित की मेहनत पर धोनी, रैना ने फेरा पानी

रोमांचक मैच में 5 रनों से हारी टीम इंडिया, ताहिर और रबादा ने छीना मैच 

कानपुर। ग्रीन पार्क स्टेडियम में रोहित शर्मा (150) की अब तक की सबसे बड़ी व्यक्तिगत पारी और अजिंक्य रहाणे (60) के साथ उनकी शतकीय साझेदारी के बावजूद भारत को रविवार को खेले गए पांच मैचों की एकदिवसीय सीरीज के पहले और रोमांचक मुकाबले में दक्षिण अफ्रीका के हाथों पांच रनों से हार का सामना करना पड़ा।

रोहित ने रहाणे के साथ दूसरे विकेट के लिए 149 तथा कप्तान महेंद्र सिंह धौनी के साथ चौथे विकेट के लिए 55 रनों की बहुमूल्य साझेदारी को अंजाम दिया लेकिन उनके ये तमाम प्रयास उस समय बेकार साबित हुए, जब 304 रनों के लक्ष्य का पीछा कर रही भारतीय टीम 50 ओवरों की समाप्ति के बाद सात विकेट पर 298 रन ही बना सकी।

रोहित ने 133 गेंदों का सामना कर 13 चौके और छह छक्के लगाए। रहाणे ने 82 गेंदों पर पांच चौके लगाए। विराट कोहली 11 रन बना सके जबकि कप्तान धौनी ने 31 रन बनाए। सुरेश रैना खाता नहीं खोल सके। रोहित का विकेट 269 और रैना का 273 के कुल योग पर गिरा।

इसके बाद धौनी ने स्टुअर्ट बिन्नी (2) के साथ खुद कमान सम्भाली। वह इसमें काफी सफल भी होते दिख रहे थे लेकिन 297 के कुल योग पर वह आउट हो गए।

धोनी ने 30 गेंदों पर एक चौका लगाया। जिस समय धौनी आउट हुए उस समय दो गेंदों पर सात रनों की जरूरत थी।  बिन्नी और भुवनेश्वर कुमार (नाबाद 1) विकेट पर थे। बिन्नी को कागिसू राबाडा ने अंतिम ओवर की पांचवीं गेंद पर आउट किया और अंतिम गेंद पर कुमार के हाथों सिर्फ एक रन खर्च किया।

भारत ने अंतिम पांच ओवरों में 40 रन बनाए और चार विकेट गंवाए। दूसरी ओर दक्षिण ने अंतिम पांच ओवरों में 65 रन जुटाए थे। यही फर्क भारत केलिए महंगा पड़ा। दक्षिण अफ्रीका की ओर से राबाडा और इमरान ताहिर ने दो-दो विकेट लिए जबकि फरहान बेहरादीन, मोर्ने मोर्कल और डेल स्टेन ने एक-एक सफलता पाई।

इससे पहले, छक्के के साथ अपने करियर का 21वां शतक पूरा करने कप्तान अब्राहम डिविलियर्स (नाबाद 104) और फॉफ डू प्लेसिस (62) की अर्धशतकीय पारियों की मदद से दक्षिण अफ्रीका ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए 50 ओवरों में पांच विकेट पर 303 रन बनाए।

मैन ऑफ द मैच चुने गए डिविलियर्स ने कप्तानी पारी खेलते हुए 73 गेंदों का सामना कर पांच चौके और छह छक्के लगाए जबकि प्लेसिस ने 77 गेदों पर पांच चौके और एक छक्का जड़ा।

यह ग्रीन पार्क में अब तक का सबसे बड़ा योग है। इससे पहले इस मैदान पर कभी भी किसी टीम ने 300 रनों का आंकड़ा नहीं पार किया था। इससे पहले यहां का 294 रन था, जो भारत ने 2007 में पाकिस्तान के खिलाफ बनाया था। इन दोनों के अलावा फरहान बेहरादीन ने नाबाद 35, क्विंटन डे कॉक ने 29, हाशिम अमला ने 35, डेविड मिलर ने 13 और ज्यां पॉल ड्यूमिनी ने 15 रन बनाए।

भारत की ओर से अमित मिश्रा और उमेश यादव ने दो-दो विकेट लिए जबकि चोट के कारण सीरीज से बाहर हो चुके रविचंद्रन अश्विन को एक सफलता मिली। उमेश ने हालांकि 10 ओवरों में 71 रन लुटाए। सीरीज का दूसरा मुकाबला 14 अक्टूबर को इंदौर के अहिल्याबाई होल्कर स्टेडियम में खेला जाएगा।