धर्म सत्ता की भूख शांत करने का मुखौटा न बनने पाए: राष्ट्रपति

धर्म सत्ता की भूख शांत करने का मुखौटा न बनने पाए: राष्ट्रपति

नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली से कुछ ही दूरी पर बसे दादरी में गोहत्या की अफवाह के बाद भीड़ द्वारा एक व्यक्ति की हत्या के कुछ दिन बाद राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने सहनशीलता बनाए रखने की अपील की है। जॉर्डन यात्रा से पहले एक अखबार को दिए इंटरव्यू में राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने कहा है, "भड़काऊ भाषण और डर फैलाने की कोशिश बंद होनी चाहिए। हमारे मूल्य और संस्कार हमारी राजमर्रा की जिंदगी का हिस्सा होना चाहिए।

इसके साथ ही राष्ट्रपति ने कहा, "सहिष्णुता और सह-अस्तित्व तो हमारी सभ्यता की नींव हैं।" इन्हें दिल में बसा कर रखना चाहिए और उदारता को बढ़ावा देना चाहिए। हमें खासतौर पर इस बात का ख्याल रखना चाहिए कि धर्म सत्ता की भूख शांत करने का मुखौटा न बनने पाए।"

बुधवार को राष्ट्रपति भवन में आयोजित कार्यक्रम में भी प्रणव मुखर्जी ने कहा था कि देश को जोड़ने वाले मूल्यों को खत्म नहीं होने दे सकते। प्रणव मुखर्जी के इस बयान के बाद पीएम मोदी ने भी दादरी हत्याकांड पर अपनी चुप्पी तोड़ी।

दादरी हत्याकांड को लेकर पीएम मोदी ने पहली बार अपनी चुप्पी तोड़ी है। बिहार के नवादा की रैली में पीएम मोदी ने दादरी कांड का जिक्र तो किया लेकिन कहा कि हिंदू और मुसलमान गरीबी से लडें। राजनीतिक फायदे के लिए बयानबाजी ठीक नहीं।

India