ग्रीन पार्क में नहीं ले जा सकेंगे पानी की बोतलें

ग्रीन पार्क में नहीं ले जा सकेंगे पानी की बोतलें

कानपूर: कटक में दर्शकों के खराब व्यवहार से सीख लेते हुए कानपुर वनडे के लिए स्टेडियम में पानी की बोतलें ले जाने पर रोक लगा दी गई है। कटक T20 के दौरान दर्शक भारत की हार से बौखला गए और पानी की बोतलें मैदान में फेंकने लगे जिससे मैच को दो बार रोकना पड़ा।

इस पूरी घटना को बीसीसीआई ने गंभीरता से लिया है। इसी कड़ी में कानपुर के ग्रीन पार्क स्टेडियम में पानी की बोतल, कोल्ड ड्रिंग्स कैन पर पूरी तरह से पाबंदी लगा दी गई है। इसके अलावा 10 फीट ऊंची जाली भी मैदान में लगाई जा रही है।

कानपुर के एएसपी शलभ माथुर ने कहा, 'स्टेडियम में पानी की बोतल ले जाने पर यहां पहले से ही बैन है। साथ ही मैदान में फेंकने वाली सभी चीजों पर बैन लगा दिया है। हाल ही में कटक के मामले को देखते हुए हमने पूरे मैदान में जाली लगाने का फैसला किया है।'

मैदान में खिलाड़ियों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए यह कदम उठाए जा रहे हैं। भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच वनडे सीरीज़ का आगाज़ कानपुर वनडे से होगा जो 11 अक्टूबर को खेला जाएगा। इस मैच को देखने के लिए 40 हजार से ज्यादा दर्शकों के आने का अनुमान है।

भारत और दक्षिण अप्रीका के T20 सीरीज़ का आखिरी मैच गुरुवार को कोलकाता के ईडन गॉर्डेन्स में खेला जाएगा। यहां भी पुलिस ने सुरक्षा कड़ी कर दी है। यहां मैच के दौरान दर्शकों के बीच में भी पुलिस कर्मी तैनात किए जाएंगे। कोलकाता में पहले भी दर्शकों के खराब व्यवहार की वजह से मैच में बाधा होती रही है। 1996 वर्ल्ड कप में श्रीलंका के खिलाफ मैच में दर्शकों ने खूब उत्पात मचाया था और 1999 में पाकिस्तान के खिलाफ टेस्ट में भी दर्शकों की वजह से मैच कई बार रोकना पड़ा था।