अखिलेश राज में एक और पत्रकार की हत्या

अखिलेश राज में एक और पत्रकार की हत्या

चंदौली: उत्तर प्रदेश के चंदौली के धीना क्षेत्र में मोटरसाइकिल पर सवार होकर आए बदमाशों ने एक स्थानीय टेलीविजन पत्रकार की गोली मारकर हत्या कर दी। चार महीने के भीतर इस तरह की यह तीसरी घटना है।

पुलिस अधीक्षक अमित वर्मा ने बताया कि हेमंत यादव (45) एक समाचार चैनल में काम करते थे। शनिवार रात मोटरसाइकिल पर सवार होकर आए बदमाशों ने उन्हें गोली मार दी। हेमंत को तत्काल सरकारी अस्पताल ले जाया गया, जहां उन्होंने दम तोड़ दिया।

वर्मा ने बताया कि हेमंत की पत्नी की शिकायत पर अज्ञात लोगों के खिलाफ चंदौली थाने में प्राथमिकी दर्ज की गई है। उन्होंने बताया कि मामले की जांच के लिए पुलिस की तीन विशेष टीमें लगाई गई हैं। कुछ सुराग भी हाथ लगे हैं।

जून में पत्रकार जगेंद्र सिंह को शाहजहांपुर में उनके आवास पर कथित रूप से आग लगा दी गई थी। जगेंद्र के परिवार वालों का आरोप है कि पुलिस वालों ने उन्हें आग लगाई थी। जगेंद्र ने 8 जून को दम तोड़ दिया था। इस मामले में उत्तर प्रदेश के एक मंत्री सहित छह लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई। बताया जाता है कि अवैध खनन गतिविधियों और भूमि हड़पने के बारे में फेसबुक पर जगेंद्र के पोस्ट से मंत्री नाराज थे।

एक अन्य घटना में बरेली जिले में एक स्थानीय हिन्दी दैनिक के अंशकालिक संवाददाता संजय पाठक की दो व्यक्तियों ने अगस्त में हत्या कर दी थी। पाठक (42) के सिर पर किसी भारी वस्तु से कई बार प्रहार किया गया था ।

हाल के दिनों में उत्तर प्रदेश के अलग-अलग हिस्सों में कई पत्रकारों पर हमले हुए हैं। चित्रकूट में कुछ महीने पहले एक स्थानीय पत्रकार पर हमला किया गया था। खनन माफिया ने उनकी हत्या के इरादे से हमला कराया था। पीलीभीत जिले में एक पत्रकार को गुंडों ने मोटरसाइकिल से बांधकर घसीटा था।

Uttar Pradesh, India