बिसहड़ा गांव के लोगों ने मीडिया पर पत्थर फेंके

बिसहड़ा गांव के लोगों ने मीडिया पर पत्थर फेंके

दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल को पीड़ित परिवार से मिलने की नहीं मिली इजाज़त 

दादरी : गोमांस खाने की अफवाह में मारे गए अखलाक के परिवार से मिलने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और आप पार्टी के दुसरे नेता शनिवार को दादरी के बिसहड़ा गांव पहुंचे लेकिन उन्हें गांव में जाने की अनुमति नहीं दी गयी। इससे पहले आज सुबह बिसहड़ा गांव के निवासियों ने मीडिया को प्रवेश करने से रोक दिया है, गांव की महिलाओं ने उनपर पत्थर फेंके । इस बीच उनकी मीडियाकर्मियों से झड़प भी हुई। गौरतलब है कि बकरीद के दो दिन बाद गोमांस खाने की अफ़वाह पर कुछ लोगों ने स्थानीय निवासी मोहम्मद अखलाक को पीट-पीट कर मार डाला था।

दरअसल अखलाक की मौत की घटना को कवर करने पहुंचे मीडियाकर्मियों का स्थानीय लोग विरोध कर रहे हैं। उन्होंने मीडियाकर्मियों के साथ धक्का-मुक्की की और उनके कैमरों को भी नुकसान पहुंचाने की कोशिश की।

इससे पहले शुक्रवार को भी गांव में नेताओं का तांता लगा रहा था। केंद्रीय मंत्री महेश शर्मा भी शुक्रवार को पीड़ित परिवार से मिलने पहुंचे। मुलाकात के बाद उन्होंने कहा कि यह घटना सुनियोजित नहीं थी। यह एक हादसा था। एआईएमआईएम के नेता असदुद्दीन ओवैसी भी पीड़ित परिवार से मिलने पहुंचे। घटना के लिए सभी राजनीतिक दल एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप करते रहे।

इस बीच लगातार पूछताछ से पीड़ित परिवार भी परेशान हो चुका है और अब सुर्खियों से दूर रहना चाहता है। मीडिया की तमाम ओबी वैन्स के बीच नेताओं की बड़ी गाड़ियों का काफिला शुक्रवार को बिसहड़ा पहुंचता रहा और वे घटना की जिम्मेदारी का ठीकरा एक-दूसरे के सिर फोड़ते रहे।  

इससे पहले उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को निशाने पर लेते हुए कहा था कि ‘गुलाबी क्रांति’ के खिलाफ बात करने वालों को गोमांस के निर्यात पर अब प्रतिबंध लगाना चाहिए, क्योंकि अब वे सत्ता में हैं। उन्होंने साथ ही आरोप लगाया कि इस प्रकार के मुद्दे उठाकर वे देश के ‘धर्मनिरपेक्ष’ चरित्र को बाधित करना चाहते हैं।

गौरतलब है कि दिल्ली के पास यूपी में दादरी बिलाहदा गांव में भीड़ ने एक वायुसेना कर्मी के 50 वर्षीय पिता की पीट-पीटकर इसलिए हत्या कर दी, क्योंकि यह अफवाह उड़ी थी कि उसने और उसके परिवार ने गोमांस खाया और घर में रखा था।

यह घटना दिल्‍ली से सटे उत्‍तरप्रदेश के दादरी में हुई, जहां मोहम्‍मद अखलाक और उसके बेटे को गांववाले घर से बाहर घसीटकर लाए और उन्‍हें ईंटों से जमकर पीटा। इस घटना में अखलाक की मौत हो गई, जबकि उसका बेटा गंभीर हालत में अस्‍पताल में भर्ती हैं। जब पुलिस घटनास्‍थल पर पहुंची, तब भी भीड़ उन दोनों को पीट रही थी।

India