थारू जनजाति को मुख्यधारा से जोड़ेगी सरकार: अखिलेश

थारू जनजाति को मुख्यधारा से जोड़ेगी सरकार: अखिलेश

मुख्यमंत्री ने थारू बालिकाओं के अध्ययन दल की बस को झण्डी दिखाकर रवाना किया

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि राज्य सरकार थारू जनजाति को मुख्यधारा से जोड़ने के लिए लगातार प्रयासरत है। जिससे इस जनजाति के लोग भी शिक्षा, स्वास्थ्य जैसी मूलभूत सुविधाओं को प्राप्त कर जागरूक बने और अपना भविष्य बेहतर बना सकें। उन्होंने कहा कि थारू जनजाति के विकास की योजनाओं के लिए धन की कमी नहीं होने दी जाएगी।

मुख्यमंत्री आज यहां अपने सरकारी आवास पर थारू जनजाति की महिलाओं तथा बालिकाओं के एक दल को शैक्षणिक भ्रमण हेतु ओरछा, मध्य प्रदेश के लिए रवाना करने के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम को सम्बोधित कर रहे थे।

श्री यादव ने कहा कि आज जब प्रदेश तेजी से तरक्की कर रहा है, थारू जनजाति की स्थिति में कोई विशेष बदलाव नहीं आया है। वे आज भी जंगल में है यद्यपि जंगलों को बचाये रखने में उनका महत्वपूर्ण योगदान है। कतिपय कानूनों की वजह से थारू जनजातीय क्षेत्र में विकास गतिविधियों जैसे, बिजली अथवा टेलीफोन की लाइनें बिछाना, घर बनाना आदि में कठिनाइयां आती हैं। इसके बावजूद राज्य सरकार कानून के दायरे में सभी सम्भव तरीकों से थारू जनजाति के विकास के लिए प्रयास करती रहेगी।  

मुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली हाट की भांति लखनऊ में भी एक बाजार का निर्माण कराया जा रहा है। यह बाजार दिल्ली हाट से भी बड़ा होगा जहाँ पर प्रदेश के हस्तशिल्पी अपने उत्पादों का प्रदर्शन एवं विक्रय कर सकेंगे। थारू महिलाएं भी अपने हस्तशिल्प का यहां पर प्रदर्शन एवं विक्रय कर सकेंगी। 

श्री यादव ने कहा कि ऐतिहासिक रूप से ओरछा का एक महत्वपूर्ण स्थान है। थारू महिला उद्यमियों को ओरछा के ताराग्राम के शैक्षणिक भ्रमण से काफी सीखने को मिलेगा। इसके अलावा ओरछा की लम्बी यात्रा के दौरान भी काफी सीखने को मिलेगा, जिससे इनका उद्यमिता कौशल और अधिक निखरेगा। ये महिलाएं स्वावलम्बी बनकर अपने परिवार के साथ ही पूरे समुदाय के आर्थिक विकास की वाहक बनेंगी। उन्होंने कहा कि सीखने-सिखाने का सिलसिला चलता रहना चाहिए। राज्य सरकार इसके लिए अपना पूरा सहयोग करेगी। 

मुख्यमंत्री ने अध्ययन दल की बालिकाओं  को किट एवं जैकेट भेंट कीं। इस अवसर पर थारू महिलाओं ने मुख्यमंत्री एवं कन्नौज की सांसद डिम्पल यादव को स्मृति चिन्ह दिये। कार्यक्रम को सुलभ इन्टरनेशनल के संस्थापक श्री बिन्देश्वर पाठक ने भी सम्बोधित किया।

इससे पूर्व मुख्यमंत्री ने दीप प्रज्ज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारम्भ किया। कार्यक्रम के शुभारम्भ में थारू बालिकाओं ने एक स्वागत गीत भी प्रस्तुत किया। इस अवसर पर जिलाधिकारी लखीमपुर खीरी किंजल सिंह ने थारू जनजातीय क्षेत्र के विकास के उपायों पर एक प्रस्तुतिकरण दिया। कार्यक्रम के अन्त में मुख्यमंत्री ने थारू बालिकाओं/महिलाओं के अध्ययन दल की बस को झण्डी दिखाकर रवाना किया।

Lucknow, Uttar Pradesh, India