बच्चे भविष्य को देखते हुए आगे बढ़े: राज्यपाल

बच्चे भविष्य को देखते हुए आगे बढ़े: राज्यपाल

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के राज्यपाल, राम नाईक ने आज सोहन लाल इण्टरमीडिएट कालेज, राजेन्द्रनगर, लखनऊ के शताब्दी समारोह में कहा कि ऐसे बच्चे जिनके माॅ-बाप किन्ही कारणों से शिक्षा प्राप्त नहीं कर पाये हैं, को शिक्षा देकर गुणवान बनाना शिक्षकों के लिये चुनौती का कार्य है। बच्चों को ठीक प्रकार से शिक्षा मिले तो प्रगति की अच्छी सम्भावना होती है। उन्होने कहा कि शिक्षण एवं प्रबन्धन से जुड़े लोग शताब्दी वर्ष में वर्तमान का आकलन करते हुए भविष्य सफल बनाने पर आत्म चिन्तन करें। 

राज्यपाल ने कहा कि छात्र-छात्राओं के सफल भविष्य के लिये अनुशासन आवश्यक है। छात्र अच्छी शिक्षा ग्रहण करें ताकि जीवन के संघर्ष का सामना कर सकें। बच्चों को केवल किताबी कीड़े न बनकर खेलकूद में भाग लेना चाहिये। अपने जीवन में जो भी करें उसे अधिक अच्छा बनाने का प्रयास करें। अच्छी शिक्षा से स्कूल का नाम होता है, शहर का नाम होता है, उसी प्रकार प्रदेश और देश का नाम होता है। उन्होंने कहा कि बच्चे भविष्य को देखते हुए आगे बढ़े। 

श्री नाईक ने इस अवसर पर विभिन्न प्रतियोगिताओं में भाग लेने वाले बच्चों को पुरस्कार वितरित किये तथा विद्यालय की स्मारिका का विमोचन भी किया।

Lucknow, Uttar Pradesh, India