बिहारः  नीतीश की शरण में पहुंचे नाराज़ भाजपा विधायक

बिहारः नीतीश की शरण में पहुंचे नाराज़ भाजपा विधायक

पटना। बिहार में विधानसभा चुनाव नजदीक आ रहे हैं। साथ ही कौन सी सीट से कौन उम्मीदवार होगा इसका भी ऎलान होना शुरू हो गया है। इसके अलावा दलबंदी और खेमेबंदी भी तेज हो गई है। आपको बता दें कि भाजपा ने बिहार विधानसभा चुनाव के लिए मंगलवार को उम्मीदवारों की पहली सूची जारी की थी। वहीं बुधवार को दो नाराज विधायक बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मिलने जा पहुंचे। पटना में भाजपा विधायक अमन पासवान और अजय मंडल ने नीतीश कुमार से उनके आवास पर मुलाकात की। अमन पासवान को भाजपा ने टिकट नहीं दिया है और माना जा रहा है कि अजय मंडल को भी टिकट मिलने की उम्मीद नहीं है।

लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के सांसद रामा सिंह ने मंगलवार देर रात विधानसभा चुनाव के लिए सीट बंटवारे के मुद्दे पर दरकिनार किए जाने को लेकर नाराजगी जताते हुए पार्टी के सभी पदों से इस्तीफा दे दिया।वैशाली से सांसद रामा सिंह ने बताया कि उन्होंने लोजपा के राष्ट्रीय महासचिव, राजस्थान राज्य के प्रभारी तथा लोकसभा में लोजपा संसदीय दल के मुख्य सचेतक पद से इस्तीफा दे दिया। माना जा रहा है कि सिंह जल्द ही लोजपा की प्राथमिक सदस्यता से भी इस्तीफा दे देंगे।

उल्लेखनीय है कि दो दिन पहले ही राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन के घटक दलों के बीच सीट बंटवारे पर पार्टी में राय-मशविरा न किए जाने को लेकर नाराजगी जताते हुए सिंह ने कहा था कि पार्टी में आंतरिक लोकतंत्र नहीं है। इतने अहम मुद्दे पर उनसे राय नहीं ली गई। इधर, लोजपा के एक नेता का कहना है कि सांसद सिंह अपनी पत्नी को विधानसभ चुनाव लड़ाना चाहते हैं और इसलिए पार्टी पर दबाव बनाने के लिए यह रणनीति अपना रहे हैं।

भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व वाले राजग में लोजपा एक घटक दल है। बिहार में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए राजग में सीट बंटवारे की घोषणा शनिवार को की गई, जिसके अनुसार राज्य विधानसभा की 243 सीटों में से 160 पर भाजपा, 40 पर लोजपा, 23 पर राष्ट्रीय लोक समता पार्टी  और 20 पर हिन्दुस्तानी आवाम मोर्चा चुनाव लड़ेगा।