मोदी के मन की बात पर महागठबंधन को ऐतराज़

मोदी के मन की बात पर महागठबंधन को ऐतराज़

नई दिल्‍ली: बिहार में विधानसभा चुनावों के मद्देनजर सियासी सरगर्मी बढ़ने के साथ ही महागठबंधन में शामिल दलों ने पीएम नरेंद्र मोदी के 'मन की बात' कार्यक्रम पर आपत्ति जताई है। जानकारी के अनुसार, जेडीयू, आरजेडी और कांग्रेस ने नरेंद्र मोदी के 'मन की बात' नामक रेडियो कार्यक्रम पर बैन लगाने की मांग की है। बिहार में महागठबंधन में शामिल ये दल अब चुनाव आयोग से मिलकर इस कार्य्रकम पर प्रतिबंध लगाने की मांग रखेंगे। जेडीयू, आरजेडी और कांग्रेस ने मांग की है कि बिहार में चुनाव खत्‍म होने तक 'मन की बात' कार्यक्रम पर रोक लगाई जाए।

मालूम हो कि पीएम मोदी आगामी 20 सितंबर को एक बार फिर रेडियो पर 'मन की बात' करेंगे। मोदी के इस कार्यक्रम (मन की बात) के प्रसारण पर प्रतिबंध लगाने के लिए बिहार में महागठबंधन का प्रतिनिधिमंडल चुनाव आयोग से मिलेगा। जानकारी के अनुसार, केसी त्‍यागी, पवन वर्मा और मनोज झा चुनाव आयोग से मिलेंगे और अपनी मांग रखेंगे।

जेडीयू ने कहा कि इस कार्यक्रम पर शीघ्र रोक लगना चाहिए। जेडीयू नेता अली अनवर ने कहा कि चुनाव खत्‍म होने तक आयोग को इस कार्यक्रम पर प्रतिबंध लगा देना चाहिए। वहीं, आरजेडी और कांग्रेस भी जेडीयू की इस मांग के समर्थन में उतर आई है। वहीं, कांग्रेस भी बिहार में चुनाव खत्म होने तक पीएम की मन की बात पर चुनाव आयोग से रोक लगाने की मांग करेगी। हालांकि कांग्रेस की ओर से कोई अधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है।

पीएम अगले रविवार को सुबह 11 बजे रेडियो पर मन की बात कार्यक्रम करने वाले हैं, इसलिए महागठबंधन ने चुनाव आयोग से बिहार चुनाव तक इस पर रोक लगाने की मांग की है। गौर हो कि बिहार में चुनाव का ऐलान होते ही आदर्श आचार संहिता लागू हो गई है। बिहार में पहले चरण का चुनाव 12 अक्टूबर को होगा, जिसके लिए बुधवार को अधिसूचना जारी होगी।