मिर्ज़ा -मार्टिना की जोड़ी ने जीता यूएस ओपन ख़िताब

मिर्ज़ा -मार्टिना की जोड़ी ने जीता यूएस ओपन ख़िताब

न्यूयॉर्क: भारतीय टेनिस स्टार सानिया मिर्जा ने रविवार को न्यूयॉर्क में अपनी जोड़ीदार स्विटजरलैंड की मार्टिना हिंगिस के साथ मिलकर अमेरिकी ओपन का महिला युगल खिताब जीतकर इस सत्र में लगातार दूसरा और करियर का पांचवा ग्रैंडस्लैम अपने नाम कर लिया।

शीर्ष वरीयता प्राप्त भारतीय-स्विस जोड़ी ने फाइनल मुकाबले में शानदार खेल का प्रदर्शन करते हुए केसी डेल्लाक्वा और यारोस्लावा श्वेदोवा की चौथी वरीयता प्राप्त जोड़ी को सीधे सेटों में 6-3, 6-3 से हरा दिया।

सानिया मिर्जा ने इस साल के अमेरिकी ओपन को भारतीयों के लिए यादगार बना दिया, क्योंकि इससे पहले लिएंडर पेस ने मार्टिना हिंगिस के साथ मिलकर शनिवार को ही इस ग्रैंडस्लैम का मिश्रित युगल खिताब अपने नाम किया था। इससे पहले विम्बलडन में भी कुछ ऐसा ही दृश्य देखने को मिला था।

कजाखस्तान की श्वेदोवा और ऑस्ट्रेलिया की डेल्लाक्वा अपनी सर्विस बचाने के लिए जूझती रहीं, जिससे सानिया और हिंगिस की जोड़ी के लिए मैच आसान हो गया। शीर्ष वरीय जोड़ी ने अपना दबदबा कायम रखते हुए महज 70 मिनट में मैच को खत्म कर दिया।

कोर्ट के पीछे से सानिया का जमीनी स्ट्रोक और नेट पर हिंगिस की चपलता के सामने उनकी प्रतिद्वंद्वी जोड़ी नहीं टिक पाई। इससे पहले इसी सत्र में विम्बलडन के बाद सानिया और हिंगिस का यह लगातार दूसरा बड़ा खिताब है।

सानिया ने अब कुल मिलाकर पांच ग्रैंडस्लैम अपने नाम कर लिए हैं। उन्होंने तीन मिश्रित युगल खिताब जीते है। हिंगिस के लिए यह सत्र बेहद शानदार रहा है। उन्होंने केवल इस सत्र में पांच ग्रैंडस्लैम खिताब जीते हैं। इसके साथ ही उन्होंने कुल 20 ग्रैंडस्लैम पर अपना नाम दर्ज करवा लिया। उन्होंने पेस के साथ तीन और सानिया के साथ दो मेजर खिताब जीते हैं।

भारतीय स्टार ने जीत के बाद कहा, 'हम लोगों के लिए यह शानदार साल है। विश्व नंबर एक होने के साथ ही पहले ही शानदार साल बन चुका है। हमारी टीम मजबूत थी और हमारे पास सभी ग्रैंडस्लैम जीतने का अवसर था। हम लोग इससे खुश हैं। मैंने यहां पिछले साल मिश्रित युगल जीता था। वापस लौटकर इसे जीतना शानदार है।'

जीत से उत्साहित हिंगिस ने कहा, 'शुरुआत से ही हमने इस पर पकड़ बना ली। हमारा खेल एक दूसरे का पूरक है। सानिया ने अपना पहला विम्बलडन जीता, यह मेरे लिए बोनस है। मैंने सामान्य से बेहतर खेला।' श्वेदोवा ने दूसरे गेम में दो फाल्ट किए और शीर्ष वरीय जोड़ी को ब्रेक प्वाइंट दिया। इसके बाद सानिया के तगड़े रिटर्न ने एक और अवसर पैदा किया, लेकिन चौथी वरीय जोड़ी ने दोनों अवसरों को बचा लिया।

इसके बाद शीर्ष वरीय जोड़ी को अगले अवसर के लिए ज्यादा प्रतीक्षा नहीं करनी पड़ी और उन्होंने डेल्लाक्वा की सर्विस तोड़ते हुए 3-1 की बढ़त बना ली, लेकिन यह बढ़त जल्द ही कम हो गई क्योंकि पांचवें गेम में सानिया की सर्विस टूट गई।

अगले गेम में श्वेदोवा एक बार फिर अपनी सर्विस नहीं बचा पाई और शीर्ष जोड़ी ने पहला सेट आसानी से जीत लिया। शीर्ष जोड़ी ने दूसरे सेट में भी अपना दबदबा कायम रखा और श्वेदोवा ने दूसरे सेट के पहले गेम में तीन ब्रेक प्वाइंट गंवा दिए। सानिया और हिंगिस ने अवसर को भुनाते हुए बढ़त हासिल कर ली।

इसके बाद दोनों ने पीछे मुड़कर नहीं देखा और मैच के साथ ही ग्रैंडस्लैम अपने नाम कर लिया।