मुंबई में मीट पर राजनीति

मुंबई में मीट पर राजनीति

शिवसेना और MNS ने बैन का विरोध, लगाया मीट का स्टॉल

मुंबई: जैन पर्व पर्यूषण को देखते हुए बृहन्मुंबई महानगरपालिका द्वारा मांस की बिक्री पर प्रतिबंध को लेकर बढ़ती तकरार के बीच शिवसेना और महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना आदेश का उल्लंघन करते हुए व्यस्त दादर इलाके में मांस बिक्री के लिए स्टाल लगा रही है।

राज ठाकरे नेतृत्व वाली मनसे ने सांकेतिक प्रदर्शन के तौर पर मुर्गे का मांस बेचने के लिए एक स्टॉल लगाया है। शिवसेना र्कायकर्ताओं ने मुंबई में चार दिन 10, 13, 17 और 18 सितंबर को प्रतिबंध के लिए निकाय संस्था के नोटिस को फाड़ दिया। जैन समुदाय इस अवधि में धार्मिक उपवास करेंगे। बगल के मीरा भयंदर और नवी मुंबई निगमों ने भी इसी तरह का प्रतिबंध लगाया है।

भाजपा ने जहां प्रतिबंध का बचाव किया है वहीं उसकी सहयोगी शिवसेना के साथ ही विपक्षी मनसे और कांग्रेस, राकांपा ने इस पर विरोध प्रकट करते हुए आरोप लगाया कि भाजपा 2017 में अहम एमसीजीएम चुनावों के पहले वोटरों को धुव्रीकृत करने और समाज के एक धड़े के तुष्टीकरण की कोशिश कर रही है। शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कहा कि उनकी पार्टी सुनिश्चित करेगी कि मांस की बिक्री पर प्रतिबंध नहीं हो।

विरोध प्रदर्शन में हिस्सा लेने वाले मनसे पाषर्द संदीप देशपांडे ने कहा, ‘हम शिवसेना कार्यकर्ताओं के साथ दादर इलाके में मांस बेच रहे थे तभी वहां पुलिस पहुंची और धक्का देना शुरू कर दिया। बाद में हमें हिरासत में ले लिया गया। लेकिन, हम प्रतिबंध के खिलाफ अपना आंदोलन तब तक जारी रखेंगे जब तक कि सरकार और निकाय संस्था आदेश वापस नहीं लेती।’’ देशपांडे ने कहा कि पार्टी प्रतिबंध के सभी दिन शहर भर में मांस का स्टॉल लगाएगी।

India