इस्लामिक स्टेट की गतिविधियाँ गैर इस्लामी

इस्लामिक स्टेट की गतिविधियाँ गैर इस्लामी

ISIS के खिलाफ  दारूल उलूम फरंगी महल ने फतवा जारी किया 

लखनऊ: दारूल उलूम फरंगी महल के इफ्ता विभाग से एक फतवा जारी किया गया है जिसमें इस बात की व्याख्या की गयी है कि आईएसआईएस की गतिविधियाँ गैर इस्लामी, गैर मजहबी और गैर इंसानी हैं। इस्लाम मजहब में जुल्म व ज्यादती की कोई जगह नही है और कुरान करीम की सूरह माइदा की आयत न0 32 में खुदा पाक ने साफ तौर पर फरमाया है कि: जिसने किसी इंसान को नाहक कत्ल किया, ज़मीन में फसाद किया उसने गोया तमाम इंसानों को कत्ल किया।’’ खुदा पाक ने दूसरी जगह इरशाद फरमया है कि  ‘‘ रहम करने वालों पर रहम करने वाला खुदा रहम करेगा, जमीन वालो पर तुम रहम करो तो आसमान वाला तुम पर रहम करेगा।’’ और नबी पाक सल्ल0 ने यह भी फरमाया जो रहम नही करता उस पर रहम नही किया जाता, इस लिए इस्लाम अमन व सलामती का पैगाम देता है। दाइश से जुड़े लोग जो कत्ल व गारत कर रहे हैं इसकी कोई भी जगह इस्लाम मजहब में नही है।

इस फतवे के जरिए से मुस्लिम नौजवानों और विशेषकर हिन्दुस्तान के नौजवानों को यह हिदायत दी गयी है कि जुल्म करने वालों को खुदा जन्नत में जगह नही देता है बल्कि खुदा की इबादत के साथ साथ इंसानों के साथ भलाई और नेक काम करने वालों को खुदा पाक जन्नत में जगह देगा। इस लिए दाइश के झूटे प्रोपैगण्डे से प्रभावित होकर उसमें शामिल न हों।

\इमाम ईदगाह लखनऊ मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली नाजिम दारूल उलूम निजामिया फरंगी महल ने यह उम्मीद जाहिर की कि इस फतवे के जारी करने बाद दाइश और मुसलमानों से सम्बंधित लोगों में फैली हुई गलत फहमियाँ दूर होगीं और नौजवान इसकी तरफ बिलकुल भी प्रभावित नही होगीं।

Lucknow, Uttar Pradesh, India