जंगल से मिला शव शीना का था: पुलिस सूत्र

जंगल से मिला शव शीना का था: पुलिस सूत्र

अवशेष का डीएनए सैंपल शीना से मिलने की पुष्टि! 

मुंबई: शीना बोरा हत्याकांड की जांच में जुटी मुंबई पुलिस के हाथ बड़ी सफलता लगी है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक, बीते शुक्रवार रायगढ़ में पेण वन से निकाले गए अवशेष का डीएनए सैंपल से शीना से मिलता है।

आपको बता दें कि इस मामले के आरोपियों के बयान के आधार पर पुलिस पेण वन में मिले अवशेष को शीना का ही मान कर चल रही थी, हालांकि इसकी पुष्टि के लिए उसके पास कोई वैज्ञानिक सुबूत नहीं था। इसलिए पुलिस ने उस अवशेष का डीएनए सैंपल एफएसएल जांच के लिए कालिना फोरेंसिक लैब भेजा था। वहां इसका मिलान शीना की मां इंद्राणी मुखर्जी और उसके भाई मिखाइल बोरा के डीएनए सैंपल के साथ भी कराया गया था। पुलिस सूत्रों के मुताबिक, इंद्राणी के सैंपल शीना से मिलते पाए गए हैं।

वहीं इस हाई प्रोफाइल हत्याकांड की मुख्य आरोपी  इंद्राणी मुखर्जी और उनके पूर्व ड्राइवर श्याम राय को अदालत ने 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। एक अन्य संजीव खन्ना को पूछताछ के लिए कोलकाता ले जाया गया है।

इन आरोपियों को शनिवार को 7 सितंबर (आज) तक के लिए पुलिस हिरासत में भेज दिया गया था। जांचकर्ता अपनी जांच को आगे बढ़ाते हुए रविवार को घटना वाले दिन क्या हुआ था, यह जानने के लिए इंद्राणी को वर्ली स्थित उसके घर और बांद्रा में एक जगह पर ले गए थे।

पुलिस का आरोप है कि 24 अप्रैल, 2012 की शाम इंद्राणी और संजीव ने शीना को बांद्रा के करीब स्थित एक जगह से अपनी कार में बैठाया। कार इंद्राणी का ड्राइवर श्याम चला रहा था। उसी दौरान शीना की गला दबाकर हत्या कर दी गई। बाद में वे लोग कार रायगढ़ जिले के गगोड़ गांव के करीब स्थित एक सुनसान जगह पर ले गए और शीना के शव को जला दिया। पुलिस हत्या में इस्तेमाल हुई कार पहले ही बरामद कर चुकी है।

India