रियल सेक्टर में महिन्द्रा लाइफस्पेस का दबदबा बरक़रार

रियल सेक्टर में महिन्द्रा लाइफस्पेस का दबदबा बरक़रार

महिन्द्रा ग्रुप  की रियल एस्टेट एवं इन्फ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट इकाई महिन्द्रा लाइफस्पेस(एमएलडीएल) को रियल एस्टेट सस्टेनेबलिटी के क्षेत्र और इससे जुड़े उपक्रमों को पूरे एशिया में लगातार दूसरे वर्ष भी अग्रणी घोषित किया गया है। जीआरईएसबी की आज जारी सर्वे रिपोर्ट में इस संस्थान को रियल सेक्टर लीडर फाॅर लिस्टेड, एशिया इंडस्ट्रीयल घोषित किया गया है।

इस अवसर पर महिन्द्रा लाइफ स्पेस की प्रबन्ध निदेशक अनिता अर्जुनदास ने कहा कि ‘‘महिन्दा लाइफ स्पेस में स्थायित्व गहराई तक हमारे दिन प्रतिदिन के कारोबारी निर्णयों और कारोबार दायित्वों, पर्यावरणीय प्रबन्धन तथा समाज तक पहुंच में इनमें शामिल हैं। हमें इस बात की खुशी है कि एक बार फिर हमें जीआरईएसबी ने हमारे संस्थान के लोकाचार और मूल्यों को देखते हुए इस क्षेत्र में अग्रणी होने की मान्यता प्रदान की है। 

उन्होंने कहा कि ऐसे समय में जब पूरा विश्व बढ़ती आबादी, बढ़ती सामाजिक आसमानता, विकास के लिए चुनौतियों और मौसम परिवर्तन की गिरफ्त में है, ऐसे में समग्र परिवर्तन में व्यापारिक सोच जरूरी है। हम निरंतर उन मार्गों पर चल रहे हैं जो हमें अपनी प्रक्रियाओं, उत्पाद और सेवाओं को स्थायित्व दे सकें।‘‘ 

 इस अवसर पर जीआरएसईबी के हैड आॅफ एशिया पैसिफिक श्री रुबेन लेंगब्रोएक ने कहा ‘‘ एशिया में पर्यावरणीय, सामाजिक एवं शासन (ईएसजी) प्रथाओं में निवेशकों द्वारा विगतवार विस्तार हो रहा है, जीआरईएसबी के परिणामों में यह बात सामने आई है कि परिसंपदा उद्योग के मसले को गंभीरता के साथ लिया जाने लगा है तथा इसे कारोबार का प्रमुख अंग माना जाने लगा है। यह इस बात का प्रतीक है कि हमें आने वाले समय में उर्जा, पानी, अपशिष्ट और मानव स्वास्थ्य के लिए स्थाई प्रबन्धन की आदतों को अपने काम में शामिल करना जरूरी हो जाएगा। वर्तमान में क्षेत्रीय वाणिज्यिक रियल एस्टेट क्षेत्र में विशेषकर रीजनल सेक्टर के अग्रणियों जैसे कि महिन्द्रा लाइफस्पेस डवलपेंट काफी प्रभावशाली कही जा सकती है। यहां यह स्पष्ट करना आवश्यक नहीं है कि सेक्टर्स का पर्यावरर्णीय प्रभाव भी काफी महत्वपूर्ण होता है साथ ही क्षेत्रीय कार्यों में अच्छी प्रथाओं का होना भी जरूरी है।