शिक्षा और स्वास्थ्य राज्य सरकार की प्राथमिकता: अखिलेश

शिक्षा और स्वास्थ्य राज्य सरकार की प्राथमिकता: अखिलेश

मील का पत्थर साबित होंगी लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे,लखनऊ मेट्रो रेल परियोजनाएं: मुख्यमंत्री  

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि समाजवादी सरकार शहरों और गांवों के बीच संतुलन बनाते हुए विकास कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि सरकार ‘डबल द स्पीड ट्रेबल द इकोनाॅमी’ के सिद्धान्त में विश्वास करती है और इसी दिशा में कार्य कर रही है, ताकि पूरे उत्तर प्रदेश का चहुंमुखी एवं संतुलित विकास हो और सभी को इस विकास का लाभ मिले। राज्य सरकार प्रदेश की अवस्थापना सुविधाओं जैसे सड़कें, बिजली, पानी, पुलों के निर्माण इत्यादि पर ध्यान केन्द्रित करते हुए लगातार कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार की महत्वाकांक्षी लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे तथा लखनऊ मेट्रो रेल जैसी परियोजनाएं प्रदेश के विकास में मील का पत्थर साबित होंगी। यह दोनों परियोजनाएं प्रदेश के विकास में महत्वपूर्ण योगदान देंगी। शिक्षा और स्वास्थ्य भी राज्य सरकार की प्राथमिकताओं में शामिल हैं। समाजवादी सरकार गरीबों, महिलाओं, विद्यार्थियों, व्यापारियों, अल्पसंख्यकों के अलावा समाज के अन्य वंचित वर्गों के विकास के लिए भी निरन्तर कार्य कर रही है।

मुख्यमंत्री ने यह विचार आज यहां गंजिंग कार्निवाल के दौरान हजरतगंज में वाई-फाई सुविधा, शहीद पथ पर मार्ग प्रकाश व्यवस्था, आधुनिक माॅड्यूलर जनसुविधाएं, अत्याधुनिक एल0ई0डी0 लाइट हाईमास्ट का उद्घाटन करने के उपरान्त व्यक्त किए। इस अवसर पर लखनऊ बाॅय टाइमलेप्स अल्प अवधि फिल्म का प्रदर्शन भी किया गया।

हजरतगंज में परिवर्तन चौक  से हजरतगंज चैराहे तक वाई-फाई सुविधा का उद्घाटन करते हुए श्री यादव ने कहा कि सरकार ने दूरदर्शिता से काम लेते हुए पहले ही 12वीं पास विद्यार्थियों को निःशुल्क लैपटाॅप उपलब्ध करवा दिए थे। प्रदेश में इण्टरनेट सुविधाओं का विस्तार हो रहा है, जिसका लाभ विद्यार्थी लैपटाॅप और मोबाइल के माध्यम से ही उठा सकते हैं। उन्होंने कहा कि जो विरोधी सरकार की इस योजना की खिल्ली उड़ा रहे थे, वे अब मुंह छुपाते घूम रहे हैं, क्योंकि उन्हें अब लैपटाॅप की महत्ता और सरकार की दूरदर्शिता समझ में आ रही है। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार ने निःशुल्क लैपटाॅप वितरण के माध्यम से शहरों और ग्रामीण क्षेत्रों के विद्यार्थियों के बीच की खाई पाटने का काम किया है। अब गांव के छात्र भी लैपटाॅप के माध्यम से इण्टरनेट का इस्तेमाल करते हुए अपना भविष्य उज्ज्वल बना रहे हैं, क्योंकि लैपटाॅप तरक्की का रास्ता दिखाने में मदद करता है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ देश के विभिन्न प्रदेशों की राजधानियों में ऐसी पहली राजधानी है, जहां मुफ्त वाई-फाई सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है। 

श्री यादव ने कहा कि प्रदेश सरकार जहां एक ओर शहरों में सुविधाओं की बढ़ोत्तरी कर रही है, तो दूसरी ओर गांवों में भी सुविधाएं बढ़ाने का कार्य कर रही है। गांवों का भी चतुर्मुखी विकास किया जा रहा है। पूर्व राष्ट्रपति स्व0 डाॅ0 ए0पी0जे0 अब्दुल कलाम के सुझाव का पालन करते हुए राज्य सरकार गांवों को सोलर ग्रिड से जोड़कर बिजली उपलब्ध करा रही है। साथ ही, किसानों को तरह-तरह की सुविधाएं और सुरक्षा प्रदान की जा रही है। उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार ने राज्य के दुग्ध उत्पादन में 2.70 लाख लीटर की अतिरिक्त वृद्धि की है। अमूल जैसी संस्था प्रदेश में अपनी इकाई लगा रही है। यही नहीं, सरकार प्रदेश में लोगों को मुफ्त स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध करा रही है। ‘108’ समाजवादी स्वास्थ्य सेवा तथा ‘102’ नेशनल एम्बुलेन्स सर्विस का लाभ सभी को मिल रहा है। महिलाओं की सुरक्षा के लिए 1090 विमेन पावर लाइन सेवा सफलतापूर्वक संचालित हो रही है, जिसका भरपूर फायदा महिलाओं को मिल रहा है।

मुख्यमंत्री नेे कहा कि सत्ता में आने के बाद से ही राज्य सरकार प्रदेश के विकास के लिए बड़े-बड़े निर्णय लेकर नई योजनाएं लागू कर रही है, जिनमें लखनऊ मेट्रो रेल, आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे, सी0जी0 सिटी, आई0टी0 सिटी इत्यादि प्रमुख हैं। प्रदेश के विभिन्न शहरों में यातायात सुगम बनाने की दृष्टि से जगह-जगह पर पुलों, आर0ओ0बी0 इत्यादि का निर्माण किया जा रहा है। साथ ही, सड़कों का चैड़ीकरण और सुदृढ़ीकरण भी किया जा रहा है। विद्युत व्यवस्था को बेहतर बनाने की दिशा में भी काम चल रहा है। आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर मुख्यमंत्री ने कहा कि यह योजना बहुत तेजी से आकार ले रही है और रिकाॅर्ड टाइम में यह एक्सप्रेस-वे पूर्ण हो जाएगा, जिससे आगरा-लखनऊ के बीच यात्रा का समय काफी कम हो जाएगा और लखनऊ दिल्ली से सीधे जुड़ जाएगा।

श्री यादव ने गंजिंग के अनुभव को याद करते हुए कहा कि जो लोग लखनऊ में रहते हैं या लखनऊ आते रहते हैं, वे इसके आनन्द को जानते हैं। उन्होंने कहा कि पुरानी पीढ़ी से लेकर आज की पीढ़ी तक के लोग हजरतगंज में घूमना पसन्द करते हैं और यहां उपलब्ध खान-पान की सुविधाओं के अलावा शाॅपिंग इत्यादि का भी मजा लेते हैं। उन्होंने कहा कि अत्याधुनिक एल0ई0डी0 लाइट हाईमास्ट का उद्घाटन गंज की समुचित प्रकाश व्यवस्था के लिए ही किया गया है, ताकि लोगों को सुविधा हो। उन्होंने शहीद पथ पर मार्ग प्रकाश व्यवस्था का उद्घाटन करते हुए सन्तोष व्यक्त किया कि इससे यातायात में सुधार होगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राजधानी लखनऊ में लोहिया पार्क के अलावा, जनेश्वर मिश्र पार्क का भी निर्माण चल रहा है। उन्होंने कहा कि इतना बड़ा पार्क किसी शहर में आसानी से उपलब्ध नहीं हो पाता है। इन सभी पार्कों में बच्चों के लिए उत्कृष्ट किस्म के झूले लगाए गए हैं। लखनऊ में विश्वस्तरीय क्रिकेट स्टेडियम का निर्माण भी बड़ी तेजी से हो रहा है। पुराने लखनऊ का सौन्दर्यीकरण भी चल रहा है। ऐतिहासिक इमारतों की लाइटिंग की व्यवस्था की गई है। गोमती रिवर फ्रन्ट पर भी तेजी से काम चल रहा है। उन्होंने आशा व्यक्त की कि इन सब विकास कार्यों के चलते लखनऊ पर्यटन, शिक्षा, वाणिज्यिक गतिविधियों के केन्द्र के रूप में तेजी से उभरेगा।

कार्यक्रम को पर्यटन मंत्री ओम प्रकाश सिंह, मुख्य सचिव आलोक रंजन, लखनऊ मेट्रो के एम0डी0 कुमार केशव, रिलायन्स जिओ के उच्चाधिकारी महेन्द्र नाहटा, एक्सप्रेस-वे के प्रोजेक्ट मैनेजर (एल0एण्डटी0) समतानी तथा गीतकार नीलेश मिश्रा ने भी सम्बोधित किया। इस अवसर पर गायक  अंकित तिवारी ने अपने गीत भी प्रस्तुत किए। कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री ने गंज कार्निवाल समिति का लोगो भी रिलीज किया।

इस अवसर पर राजनैतिक पेंशन मंत्री राजेन्द्र चौधरी, प्रमुख सचिव सूचना नवनीत सहगल, पर्यटन सचिव अमृत अभिजात, शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी तथा बड़ी संख्या में गंजिंग कार्निवाल में भाग लेने आए लोग मौजूद थे।

Lucknow, Uttar Pradesh, India