मुश्किल में ही भाजपा को याद आते हैं सहयोगी: शिवसेना

मुश्किल में ही भाजपा को याद आते हैं सहयोगी: शिवसेना

नई दिल्ली। संसद का मानसून सत्र शुरू होने से पहली भाजपा मुश्किल में नजर आ रही है। सहयोगी दल शिवसेना ने सोमवार को भाजपा पर हमला बोला। शिवसेना सांसद संजय राउत ने महत्वपूर्ण विधेयकों पर सहयोगियों से सलाह नहीं करने को लेकर नाखुशी जाहिर की। राउत ने कहा,आखिरकार सरकार को समझ में आया कि उसे सहयोगी दलों की जरूरत है।

भाजपा को सहयोगी दलों की तब याद आती है जब उसके पास बहुमत नहीं होता है। हम महत्वपूर्ण मुद्दों पर संसद के अंदर चर्चा चाहते हैं। भाजपा नेता पहले सहयोगी दलों को साथ में रखते थे, लेकिन अब ऐसा नहीं है। इससे पहले राउत ने कहा था कि, मुझे यकीन है कि आज होने वाली बैठक से कुछ ना कुछ जरूर निकल के आएगे और हम संसद में एक साथ खड़े होंगे।