जिम्बाब्वे का सूपड़ा साफ़, भारत ने  3-0 से जीती सीरीज़

जिम्बाब्वे का सूपड़ा साफ़, भारत ने 3-0 से जीती सीरीज़

हरारे : हरारे में खेले गए तीसरे एवं आखिरी वनडे मैच में भारत ने जिम्बाब्वे के खिलाफ 83 रनों से जीत दर्ज की और साथ ही यह सीरीज 3-0 से अपने नाम की। क्लीन स्वीप के साथ ही सीरीज में भारत की इस युवा ब्रिगेड टीम ने छोटी टीम का सूपड़ा साफ कर दिया। जिम्बाब्वे ने आज तीसरे मैच में बेहद खराब प्रदर्शन किया। चामु चिभाभा (82) को छोड़कर जिम्बाब्वे का कोई भी बल्लेबाज भारतीय गेंदबाजी के सामने टिक नहीं सका।  

केदार जाधव मैच में जिम्बाब्वे के खिलाफ शतक जड़कर 'मैन ऑफ द मैच' चुने गए। उन्होंने विपक्षी टीम के खिलाफ शानदार नाबाद (105) रन बनाए। साथ ही स्टूुअर्ट बिन्नी ने सबसे ज्यादा तीन विकेट झटके। उन्होंने 10 ओवर में 55 रन देकर तीन विकेट झटके।  

भारत और जिम्बाब्वे के बीच तीसरा वनडे हरारे स्पोर्ट्स क्लब मैदान में खेला जा रहा है। जिम्बाब्वे के कप्तान एल्टन चिगुम्बुरा ने टॉस जीतकर भारत को पहले बल्लेबाजी के लिए आमंत्रित किया। भारतीय टीम ने जाधव के शतक और मनीष पांडे के अर्द्धशतक की बदौलत जिम्बाब्वे के सामने 277 रन का लक्ष्य रखा है।

न्होंनेभारत का टॉप ऑर्डर पूरी तरह से फेल रहा। लेकिन केदार जाधव और मनीष पांडे ने इस मौके को जमकर भुनाया। केदार ने शानदार शतक जड़ते हुए नाबाद 105 रन बनाए और इस मैच से अपने वनडे करियर की शुरुआत कर रहे मनीष ने अर्द्धशतक जड़ दिया। केदार ने भारत के कुल योग में 105 और मनीष 71 रन का योगदान दिया।

इससेपहले भारत की शुरुआत अच्छी नहीं रही, कप्तान अजिंक्य रहाणे के रूप में पहला झटका सिर्फ 25 रन के कुल योग पर लगा। रहाणे ने 15 रन का योगदान दिया और उन्हें नेविले माद्जीवा ने प्रॉस्पर उत्सेया के हाथों कैच आउट कराया।

भारत को दूसरा झटका भी जल्दी ही लगा और 33 रन के कुल योग पर विजय भी पवेलियन लौट गए। विजय ने 13 रन बनाए और उन्हें भी नेविले माद्जीवा ने ही रिचमंड मुतुम्बानी के हाथों कैच आउट कराया।

मनोज तिवारी भी इस सीरीज में मिल रहे लगातार मौकों का फायदा नहीं उठा पाए। तिवारी एक बार फिर बड़ी पारी खेलने से चूक गए और 33 गेंदें खेलकर सिर्फ 10 ही रन बना पाए। उन्हें प्रॉस्पर उत्सेया ने अपनी ही गेंद पर कैच आउट किया।

विकेटकीपर बल्लेबाज रॉबिन उथप्पा भी मिले मौके को नहीं भुना पाए। उन्होंने 31 रन की पारी खेली और मसाकाद्जा की गेंद पर चिगुम्बरा को कैच थमाकर पवेलियन लौट गए। भारत को पांचवां झटका मनीष पांडे के रूप में लगा। उन्होंने 71 रन बनाए और चिभाभा की गेंद पर सिकंदर रजा को कैच थमा बैठे।

अजिंक्य रहाणे की अगुवाई में भारतीय टीम का मकसद जीत की हैट्रिक के साथ जिम्बाब्वे का सूपड़ा साफ करना होगा। मेजबान जिम्बाब्वे शुरुआती दो मैच हारकर सीरीज पहले ही गंवा चुका है।

इस मैच के परिणाम का सीरीज के नतीजे पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा। जिम्बाब्वे भले दोनों मैच हार चुका है, लेकिन बीते शुक्रवार को हुए सीरीज के पहले मैच में उन्होंने भारत के पसीने छुड़ा दिए थे।