'अच्‍छे दिन' आने में 25 साल लगेंगे: अमित शाह

'अच्‍छे दिन' आने में 25 साल लगेंगे: अमित शाह

नई दिल्‍ली : बीजेपी अध्‍यक्ष अमित शाह ने अपने एक बयान में कहा है कि 'अच्‍छे दिन' आने में 25 साल लगेंगे। एक अंग्रेजी अखबार के हवाले से यह खबर सामने आई है। हालांकि, बीजेपी ने इस खबर का खंडन किया है। दूसरी ओर, शाह के इस बयान पर विपक्षी पार्टियों के हमले तेज हो गए हैं।

मालूम  हो कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बीते लोकसभा चुनाव से पहले देश की जनता के साथ 'अच्छे दिन' का वादा किया था। अब उस 'अच्‍छे दिन' को 25 साल में लाने की बात की जा रही है।

अमित शाह ने सोमवार को भोपाल में पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि अच्छे दिन आने में 25 साल लगेंगे। शाह ने यह भी कहा कि भारत को नंबर वन पोजिशन पर पहुंचाने के लिए बीजेपी को इन 25 साल में पंचायत से लेकर लोकसभा तक, हर चुनाव जीतना होगा। शाह ने कहा कि देश को दुनिया के सर्वोच्च स्थान पर बैठाना है तो पांच साल की सरकार कुछ नहीं कर सकती। शाह ने आगे कहा कि मुद्रास्फीति दर घटाना, विदेश नीति, सीमा सुरक्षा, बेहतर नीतियां इन सभी में बेहतरी लाएंगे लेकिन उसके लिए हमें पांच नहीं बल्कि और समय देना होगा, और बीजेपी को सभी स्तर के चुनावों में जीत दिलानी होगी।

बीजेपी अध्‍यक्ष के इस बयान विपक्षी पार्टियों ने प्रहार करना शुरू कर दिया है। शाह के इस बयान पर दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने ट्विट करते हुए लिखा है अगर चुनाव से पहले ये बात (अच्छे दिन आने में 25 साल) बता देते तो क्‍या लोग उन्‍हें वोट देते? वहीं, कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने कहा है कि अमित जी, आपके अच्‍छे दिन तो आए गए। उधर, बीजेपी ने कहा कि अच्‍छे दिन वाले बयान को तोड़ मरोड़कर पेश किया गया है।