यौन हिंसा और दमन के खिलाफ wss ने निकाला मार्च

यौन हिंसा और दमन के खिलाफ wss ने निकाला मार्च

लखनऊ :  यौन हिंसा और राजकीय दमन के खिलाफ महिलाए (wss) मंच ने मार्च निकाला व सभा का आयोजन किया। अखिल भारतीय वन जन श्रमजीवी युनियन द्वारा यौन हिंसा और दमन के खिलाफ चारबाग से नारे लगाते हुए मार्च लछमण मेला मैदान तक गया और वहा पर सभा के रूप मे तब्दील हो गया।  सरकारी दमन पर प्रतिक्रिया देते हुए शोभा ने कहा कि पुलिस प्रशासन कम्पनी और दलालों द्वारा महिलाओं पर किये जा रहे यौन हिंसा व दमन के खिलाफ़ हम सब महिलायें एकजुट होकर ऐसे पुलिस प्रशासन कम्पनी व दलालों खिलाफ़ लड़ाई लड़ेंगी ! उन्होंने ने शिक्षित महिला समाज से अपील किया कि वे लोग भी इस आन्दोलन से जुड़े ! लखीमपुर कि नेवादा ने कहा कि पुलिस और वन विभाग द्वारा उनके ऊपर हमला करवाया गया उस हमले के बाद से अब मैं सरकारी दमन के खिलाफ़ और भी मजबूती से लड़ रही हूँ ! सभा में wss की कल्याणी मेनन ने कहा कि देश के अलग अलग इलाको में महिलाओं के ऊपर यौन हिंसा और सरकारी दमन किया जा रहा है जिसके खिलाफ़ wss आवाज़ ऊठा रहा है ! गीता ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि नर्मदा घाटी के विस्थापित अब अपने सार्वजानिक जमीन पर अधिकार जमा रहे है जिसके खिलाफ़ महिलायें और पुरुष मिलकर लड़ाई लड़ रहे है ! ललितपुर की याशमीन ने कहा कि हमारे क्षेत्र में वन विभाग और समुदाय के लोगो कि लड़ाई जारी है और प्रदेश के अन्य दमन विरोधी आन्दोलन से तालमेल कर अपने लड़ाई को मजबूत करेगे ! रिहाई मंच के प्रवक्ता शाहनवाज़ अलाम ने कहा कि मुलायम भी अपना प्रधान मंत्री का ख्वाब पूरा करने के लिए पूर्ण तया मोदी की राह पर अग्रसरित है ! इसी लिए प्रदेश सरकार भी विकास के मोदी माडल को लागू कर रही है काला इतिहास दोहराया जा रहा है ! यही कारण है कि आदिवासियों, महिलाओं और अल्पसंख्यको का दमन जारी है ! सभा को मतदयाल, पद्मा, अमित, प्रवीन आदि ने भी संबोधित किया ! सभा के अंत में अखिल भारतीय वन जन श्रमजीवी यूनियन के राष्ट्रीय महासचिव अशोक चौधरी ने wss के प्रयासों को मजबूत करने की अपील कि। सभा में wss ने acm 1st के माध्यम से मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन दिया। 

Lucknow, Uttar Pradesh, India