सुप्रीम कोर्ट की देखरेख में एसआईटी करे व्यापम घोटाले की जांच: माले

सुप्रीम कोर्ट की देखरेख में एसआईटी करे व्यापम घोटाले की जांच: माले

लखनऊ। भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (माले) ने भाजपा शासित मध्यप्रदेश के बहुचर्चित व्यापमं घोटाले के सिलसिले में अब तक 40 से अधिक लोगों की दुखद मौतों पर गहरी चिंता प्रकट की है।

पार्टी के राज्य सचिव रामजी राय ने कहा कि घोटाले की रिपोर्टिंग में लगे टीवी चैनल के पत्रकार अक्षय कुमार से लेकर जबलपुर स्थित मेडिकल कॉलेज के डीन डा. अरूण शर्मा की संदेहास्पद मौत घोटाले का अलग चरित्र उजागर कर रही है। व्यापमं घोटाला महज घोटाला नहीं रह गया है, यह ‘किलर घोटाला’ में तब्दील हो गया है।

उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार मुक्त भारत का नारा देने और बात-बेबात बढ़-बढ़ कर बोलते रहने वाले नरेन्द्र मोदी मध्यप्रदेश की भाजपा सरकार के इस कुकृत्य पर बेशर्मी से चुप्पी साधे हुए हैं। हत्या की सिलसिलेवार घटनायें साबित करती हैं कि भाजपा से जुड़े घोटाले को उजागर करने वालों का यही हश्र किया जाएगा। यह पूरी तरह से फासीवाद की आहट है।

माले नेता ने कहा कि इस मामले में मध्य प्रदेश की भाजपा की शिवराज सिंह चौहान सरकार को अविलंब हटाया जाना चाहिए। साथ ही, सुप्रीम कोर्ट को इस मामले में तत्काल हस्तक्षेप करना चाहिए और एसआईटी का गठन करके जो हत्यायें हुई हैं,उसकी अपने निर्देशन में संपूर्णता में जांच करानी चाहिए।

Lucknow, Uttar Pradesh, India