दक्षिण कोरिया को हराकर नीदरलैंड्स ने जीती महिला हॉकी वर्ल्ड लीग

दक्षिण कोरिया को हराकर नीदरलैंड्स ने जीती महिला हॉकी वर्ल्ड लीग

एंटवर्प। मौजूदा विश्व चैम्पियन नीदरलैंड्स महिला हॉकी टीम ने दक्षिण कोरिया को 2-1 से मात देकर हॉकी वर्ल्ड लीग (एचडब्ल्यूएल) सेमीफाइनल का खिताब जीत लिया। शनिवार को हुआ फाइनल मैच बहुत ही कांटे का रहा और मैच समाप्त होने से दो मिनट पहले एलेन हूग द्वारा किए गए गोल की बदौलत नीदरलैंड्स ने जीत हासिल की। इसके साथ ही विजेता नीदरलैंड्स के साथ उप-विजेता दक्षिण कोरिया और शनिवार को ही तीसरे स्थान के लिए हुए मैच में न्यूजीलैंड को मात देने वाली आस्ट्रेलियाई टीम ने रियो ओलम्पिक-2016 में जगह सुनिश्चित कर ली। आस्ट्रेलियाई महिलाओं ने न्यूजीलैंड को 4-2 से हराया। फाइनल मैच में दोनों टीमों के बीच कड़ी टक्कर देखने को मिली। सात विश्व कप विजेता और तीन ओलम्पिक स्वर्ण जीत चुकी नीदरलैंड्स की टीम को कोरिया ने जबरदस्त टक्कर दी।

मध्यांतर तक कोई भी टीम गोल हासिल नहीं कर सकी। मध्यांतर के बाद मैच के 34वें मिनट में कोरिया की ओर से पार्क यूनजुंग ने पेनाल्टी कॉर्नर पर किम जोंग से मिले शॉट को गोल की राह दिखा दी और टीम को 1-0 की बढ़त दिला दी। यहां से कोरिया उलटफेर करने की स्थिति में लगने लगा। लेकिन फिंट्रो बेस्ट प्लेयर चुनी गईं नीदरलैंड्स की वेल्टन लिडेविज से पेनाल्टी कॉर्नर पर मिले सटीक पास पर काइया वैन मासाकेर ने 44वें मिनट में गोल कर नीदरलैंड्स को 1-1 से बराबरी पर ला दिया।

वेल्टन ने मैच के आखिरी मिनटों में जबरदस्त खेल का प्रदर्शन किया और कोरियाई रक्षापंक्ति को भेदने में सफलता हासिल की। वेल्टन से मिले पास पर हूग ने नीदरलैंड्स के लिए विजयी गोल दागा। वेल्टन जहां टूर्नामेंट की सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी चुनी गईं, वहीं न्यूजीलैंड की सैली रदरफोर्ड टूर्नामेंट की सर्वश्रेष्ठ गोलकीपर चुनी गईं। 10 गोल के साथ आस्ट्रेलिया की जोडी केनी टूर्नामेंट की सर्वोच्च स्कोरर रहीं। नीदरलैंड्स की शान डी वार्ड को टूर्नामेंट का सर्वश्रेष्ठ जूनियर खिलाड़ी चुना गया।