पाकिस्तान हॉकी के इतिहास का आज काला दिन, रियो ओलंपिक दौड़ से बाहर

पाकिस्तान हॉकी के इतिहास का आज काला दिन, रियो ओलंपिक दौड़ से बाहर

एंटवर्प: एक समय खेल की सबसे ताकतवर टीमों में शुमार रही पाकिस्तान की पुरूष हाकी टीम आज यहां विश्व लीग सेमीफाइनल्स के प्ले आफ मुकाबले में आयरलैंड के हाथों 0-1 से उलटफेर का शिकार होकर अगले साल होने वाले रियो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करने में नाकाम रही।

पांचवें से आठवें स्थान के पहले प्ले आफ में पाकिस्तान की हार का मतलब है कि टीम अब इस टूर्नामेंट में सातवें स्थान से उपर हासिल नहीं कर सकती और विश्व लीग सेमीफाइनल्स से 12 टीमों के ओलंपिक कोटा छठे स्थान से नीचे नहीं जाते।

पिछले साल इंचियोन में एशियाई खेलों के फाइनल में भारत के हाथों शिकस्त के बाद यह पाकिस्तान के लिए 2016 ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करने का अंतिम मौका था।

तीन बार की चैम्पियन पाकिस्तान की टीम ओलंपिक हाकी ही सबसे सफल टीमों में से एक है। उससे अधिक ओलंपिक खिताब भारत (आठ) और जर्मनी (चार) ने ही जीते हैं। जर्मनी के खिताबों में एक पश्चिम जर्मनी का खिताब भी शामिल है।

इससे पहले पाकिस्तान की टीम पिछले साल खेल के इतिहास में पहली बार विश्व कप के लिए क्वालीफाई करने में नाकाम रही थी। पाकिस्तान की टीम 2014 विश्व कप की 12 टीमों में जगह बनाने में विफल रही थी जबकि उसने अब तक सबसे अधिक बार यह खिताब जीता है।