रहाणे एकाग्र, जुनूनी और बहुत अनुशासित है: वेंगसरकर

रहाणे एकाग्र, जुनूनी और बहुत अनुशासित है: वेंगसरकर

मुंबई: अंजिक्य रहाणे को जिम्बाब्वे दौरे के लिये भारतीय टीम का कप्तान नियुक्त किये जाने पर खुशी व्यक्त करते हुए पूर्व कप्तान दिलीप वेंगसरकर ने आज कहा कि मुंबई के इस बल्लेबाज ने लंबा सफर तय कर लिया है।

वेंगसरकर ने यहां पत्रकारों से कहा, यह अच्छी खबर है। भारत की अगुवाई करने से उन्हें काफी अनुभव मिलेगा। देश की अगुवाई करना क्रिकेटर के लिये सम्मान होता है। पिछले दो वर्षों में उन्होंने जो प्रगति की है उससे मैं खुश हूं। मुझे लगता है कि उसने लंबा सफर तय किया है।

वनडे के नियमित कप्तान महेंद्र सिंह धोनी और टेस्ट कप्तान विराट कोहली को विश्राम दिये जाने के कारण रहाणे को दस से 19 जुलाई के दौरे के लिये भारत की दूसरी श्रेणी की टीम की कप्तानी सौंपी गयी है। मुंबई क्रिकेट संघ के उपाध्यक्ष और इसकी क्रिकेट सुधार समिति के प्रमुख वेंगसरकर ने कहा कि रहाणे ने जिस तरह से अपने करियर में निरंतर अच्छा प्रदर्शन किया उससे वह खुश हैं।

उन्होंने कहा, वह बहुत अच्छा खेल रहा है और सभी प्रतिद्वंद्वी टीमों के खिलाफ रन बना रहा है। वह एकाग्र, जुनूनी और बहुत अनुशासित है और लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रहा है जो कि एक अच्छे क्रिकेटर के गुण होते हैं।

लार्डस पर लगातार तीन शतक लगाने वाले वेंगसरकर ने कहा, रहाणे ने इंग्लैंड के खिलाफ पिछले सत्र में लार्डस में जो शतक लगाया गया था वह बेहतरीन था। मैंने वह पारी देखी थी और उसे बहुत महत्वपूर्ण आंकता हूं। उन्होंने तब यह पारी खेली जबकि भारत विकेट गंवा रहा था। यह टीम के लिहाज से अहम पारी थी क्योंकि भारत ने वह मैच जीता था।