गरीब मरीजों की सेवा से बेहतर कोई दूसरा कर्म नहीं: अहमद हसन

गरीब मरीजों की सेवा से बेहतर कोई दूसरा कर्म नहीं: अहमद हसन

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री अहमद हसन ने कहा कि 100 शैय्या युक्त राम सागर मिश्र चिकित्सालय का लोकार्पण करके सरकार ने जनता से किया गया वादा पूरा कर दिया है। सरकार ने दवा-पढ़ाई मुफ्त के नारे को साकार कर दिया है। स्वास्थ्य मंत्री आज यहां बक्शी के तालाब के निकट साढ़ामऊ में राम सागर मिश्र चिकित्सालय के लोकार्पण के पश्चात उपस्थित जनता को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि सरकार की कथनी व करनी में काई फर्क नहीं है। स्वास्थ्य सेवा के क्षेत्र के सरकार ने बेमिसाल  योजनायें संचालित की हैं। मरीजों की सेवा में ‘108‘ व ‘102‘ एम्बुलेंस वैन चलाकर प्रदेश ने पूरे देश में अनुकरणीय उदाहरण प्रस्तुत किया है। 

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि इस अस्पताल का श्रेय भगवती सिंह को जाता है जिन्होंने क्षेत्रीय जनता को ध्यान में रखते हुए इस अस्पताल की मांग की थी। उन्होंने चिकित्साधिकारियों को उनके कत्र्तव्यों की याद दिलाते हुए कहा कि गरीब मरीजों की सेवा से बेहतर दूसरा कोई काम नहीं है। इस अत्याधुनिक चिकित्सालय में दवाओं तथा मशीनों की खरीद में बजट की कोई कमी नहीं होने दी जाएगी। उन्होंने  चिकित्सकों से कहा कि  चिकित्सालय परिसर में ही निवास करें, उन्हें पूरी सुरक्षा प्रदान की जाएगी पूरे अस्पताल को वातानुकूलित किया जाएगा।

अहमद हसन ने कहा कि राष्ट्रीय राजमार्ग पर स्थित होने के कारण इस अस्पताल की जिम्मेदारियाँ काफी बढ़ जाती हैं। अस्पताल में बाराबंकी, सीतापुर एवं हरदोई जनपदों के मरीज पर्यप्त संख्या में इलाज के लिए आयेंगे। श्री हसन ने कहा कि दुर्घटना में बुरी तरह से घायल मरीजों को शहर के अस्पतालों तक पहुंचने में बहुत समय लग जाता है, लेकिन इस अस्पताल के बन जाने से समय की बचत होगी और मरीजों को तुरन्त चिकित्सा सुविधा मिल सकेगी।

इससे पूर्व स्वास्थ्य राज्यमंत्री श्री शंखलाल ने कहा कि प्रदेश के सुदूर अंचलों में बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करने के लिए सरकार कृत संकल्प है। 08 बीघे क्षेत्रफल में  21 करोड़ रुपये से अधिक लागत से अल्प समय में चिकित्सालय को बनाकर सरकार ने सराहनीय कार्य किया हैै। 

Lucknow, Uttar Pradesh, India