हार और आलोचना से झल्लाए कैप्टन कूल

हार और आलोचना से झल्लाए कैप्टन कूल

कही कप्तानी छोड़ने की बात, बल्लेबाज़ों पर बरसे  

मीरपुर। बंगलादेश के हाथों पहली बार वनडे सीरीज गंवाने वाली भारतीय टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने रविवार को बड़ा बयान दिया। अपनी टीम के खराब प्रदर्शन से खफा धोनी ने कहा कि सीरीज हारने के बाद बीसीसीआई चाहे तो उन्हें कप्तानी से हटा सकता है। एक वेबसाइट के मुताबिक, मीरपुर में दूसरा वनडे हारने के बाद पत्रकारों से धोनी ने कहा, "मेरे बिना अगर टीम अच्छा खेलती है तो बोर्ड मुझे कप्तानी से हटा सकता है। मैं टीम में बिना कप्तानी के भी खेल सकता हूं।"

धोनी का यह बयान बांग्लादेश के हाथों सीरीज गंवाने से जोड़कर देखा जा रहा है। साथ ही धोनी बल्लेबाजों को लताड़ते हुए कहा है कि यदि बोर्ड पर सम्मानजनक स्कोर होता तो शायद परिणाम कुछ और होता। बंगलादेश ने यहां रविवार को दूसरे वनडे में भारत को डकवर्थ लुईस नियम से छह विकेट से हराने के साथ तीन वनडे मैचों की सीरीज को 2-0 से कब्जा ली है। भारत ने पिछला मैच 79 रन से हारा था। यह भारत के खिलाफ बंगलादेश की वनडे में पहली सीरीज जीत है। इसके अलावा ओवरआल वनडे में भारत की बंगलादेश के खिलाफ कुल 31 मैचों में यह यह पांचवीं हार है। भारत ने 25 मैच जीते हैं।

धोनी ने मैच के बाद कहा" हमारी बल्लेबाजी में काफी समस्या थी। हमें बोर्ड पर अधिक रन जोड़ने चाहिए थे। मैच में बल्लेबाजों पर लगातार दबाव था क्योंकि हमने काफी जल्द विकेट गंवा दिए थे।" वनडे कप्तान ने कहा, "हमनें बिल्कुल भी अच्छा स्कोर नहीं बनाया जिसका हम बचाव कर पाते। मैं नहीं समझता कि खासतौर पर इस हार के लिए गेंदबाजों को जिम्मेदार ठहराना चाहिए क्योंकि हमारे पास रन ही नहीं थे जिसका वे बचाव कर पाते।"

धोनी ने नाराजगी भरे लहजे में कहा, "हमें मैच में अच्छी साझेदारी की जरूरत थी। बंगलादेश की टीम एक इकाई की तरह खेल रही थी। जब विपक्षी टीम को विकेट भी नहीं मिल रहे थे तब भी उन्होंने मैच पर पकड़ बनाकर रखी और हमें रन बनाने का मौका नहीं दिया।" बंगलादेश के खिलाफ आखिरी वनडे को लेकर उन्होंने कहा, "हमारी पूरी कोशिश रहेगी कि हम तीसरा मैच पूरे मजे के साथ खेलें। हम दिमाग में कोई और बात या परिणाम की चिंता के यह मैच खेलेंगे।