जगेन्द्र सिंह हत्याकांड में नामज़द पांचों पुलिसकर्मी निलंबित

जगेन्द्र सिंह हत्याकांड में नामज़द पांचों पुलिसकर्मी निलंबित

इंस्टेंटखबर ब्यूरो 

लखनऊ : उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर जिले में पत्रकार जगेन्द्र सिंह की कथित रूप से जलाकर मार डालने के मामले में छापा मार दल में शामिल रहे पांचों पुलिस कर्मियों को निलंबित कर दिया गया है।

पुलिस महानिरीक्षक (कानून-व्यवस्था) ए. सतीश गणेश ने शनिवार को यहां संवाददाताओं से कहा, ‘जगेन्द्र सिंह की कथित हत्या में नामजद शाहजहांपुर चौक थाने के तत्कालीन दारोगा श्रीप्रकाश राय समेत छापा दल में शामिल रहे सभी पांच पुलिस कर्मियों को निलंबित कर दिया गया है।’ उन्होंने बताया कि इस मामले में दर्ज प्राथमिकी में प्रदेश के राज्यमंत्री राममूर्ति वर्मा और दारोगा श्रीप्रकाश राय के अलावा चार अज्ञात पुलिस कर्मियों का भी जिक्र किया गया था।

यह बताते हुए कि श्रीप्रकाश राय का तबादला झांसी कर दिया गया था, गणेश ने बताया कि जांच के बाद छापा मार टीम में उनके साथ मौजूद रहे उपनिरीक्षक क्रांतिवीर सिंह, प्रधानआरक्षी सुभाष चन्द्र यादव तथा आरक्षी उदयवीर एवं मंसूर को निलंबित कर दिया गया है। यह चारों फिलहाल शाहजहांपुर में ही तैनात थे।

उन्होंने बताया कि जांच के सिलसिले में अब तक मृतक पत्रकार जगेन्द्र के बड़े बेटे, पिता, पत्नी तथा छोटे बेटे का बयान दर्ज कर लिया गया है। बयान अलग-अलग दर्ज किया गया है और उसकी वीडियोग्राफी भी करायी गयी है। गणेश ने बताया कि निलंबित पुलिसकर्मियों का भी अलग-अलग बयान दर्ज कराया जायेगा और उसकी वीडियोग्राफी भी होगी।

पुलिस महानिरीक्षक ने बताया कि मुरादाबाद, बरेली तथा लखनउ की फोरेंसिक टीमों ने कल जाकर मौके से कुछ सामग्री एक की है। विस्तृत रिपोर्ट एक हफ्ते में मिलने की उम्मीद है। मृतक पत्रकार का जो मृत्यु पूर्व बयान दर्ज कराया गया था, वह फिलहाल अदालत में है और उसे प्राप्त करने की विधिक प्रक्रिया की जा रही है, ताकि उसे भी केस डायरी का हिस्सा बनाया जा सके।

राज्यमंत्री से पूछताछ किये जाने की सम्भावनाओं के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा ‘अभी शुरुआती स्तर पर मौके से सुबूत जुटाने का काम किया जा रहा है और जांच के दौरान जब भी स्थिति आयेगी तो वह काम (राज्यमंत्री वर्मा से पूछताछ) भी किया जाएगा।’

Lucknow, Uttar Pradesh, India