अमीना बनीं मॉरीशस की पहली महिला राष्ट्रपति

अमीना बनीं मॉरीशस की पहली महिला राष्ट्रपति

पोर्ट लुइस:  वैज्ञानिक अमीना गुरीब फ़किम मॉरीशस की राष्ट्रपति बनने वाली पहली महिला बन गई हैं. फ़किम को शुक्रवार को राजधानी पोर्ट लुई में एक समारोह में राष्ट्रपति पद की शपथ दिलाई गई.

कैलाश पुरयाग के पिछले हफ़्ते राष्ट्रपति पद से इस्तीफ़ा देने के बाद फ़किम को राष्ट्रपति नियुक्त किया गया है. कैलाश पुरयाग को पूर्व सरकार ने जुलाई 2012 में राष्ट्रपति नियुक्त किया था, तब नवीन रामगुलाम देश के प्रधानमंत्री थे. 56 वर्षीय फ़किम ने ख़ुद के राष्ट्रपति बनने का श्रेय अपने माता-पिता को दिया. उन्होंने कहा, "ऐसे समय में जब पढ़ाई में सिर्फ़ लड़कों की तरजीह दी जाती थी, उन्होंने बेटी को पढ़ाया."

मॉरीशस 1968 में ब्रिटेन से आज़ाद हुआ था, हालाँकि 1992 तक ब्रिटेन की महारानी एलिज़ाबेथ ही राष्ट्र प्रमुख बनी रहीं. गुरीब फ़किम जानी-मानी वैज्ञानिक हैं और अभी सेंटर फ़ॉर फ़ायटोथेरेपी रिसर्च की निदेशक हैं. उनकी पढ़ाई ब्रिटेन में एक्सेटर और सर्रे विश्वविद्यालयों से हुई. वे मॉरीशस यूनिवर्सिटी में कार्बनिक रसायन विभाग की अध्यक्ष भी हैं.

फ़किम वर्ल्ड बैंक और कई अंतरराष्ट्रीय संस्थाओं के साथ भी काम कर चुकी हैं.