इतिहास रचना से की एडम वोजेस ने टेस्ट करियर की शुरुआत

इतिहास रचना से की एडम वोजेस ने टेस्ट करियर की शुरुआत

विंडसर पार्क: पहले ही टेस्ट में ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज एडम वोजेस ने बनाया इतिहास डोमिनिका के विंडसर पार्क में वेस्ट इंडीज और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेले जा रहे टेस्ट के दूसरे दिन ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज एडम वोजेस ने वह रिकॉर्ड बना दिया, जो 138 सालों के टेस्ट इतिहास में अब तक नहीं हो पाया था।

अपने पहले ही टेस्ट में ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज ने इतिहास बना दिया। 35 साल और 243 दिन की उम्र में उन्होंने अपने पहले टेस्ट में शतक बना दिया। अब सबसे ज्यादा उम्र में डेब्यू करते हुए शतक बनाने का रिकॉर्ड एडम वोजेस के नाम हो गया है।

उन्होंने जिम्बाब्वे के बल्लेबाज डेव हाउटन के रिकॉर्ड को अपने नाम किया है। जिम्बाब्वे के डेव हाउटन ने भारत के खिलाफ 1992 में 121 रन की पारी खेली थी। तब हाउटन की उम्र 35 साल और 118 दिन थी। ये जिम्बाब्वे का भी पहला टेस्ट था।

जाहिर है, ऑस्ट्रेलिया की ओर से भी डेब्यू करते हुए सबसे ज़्यादा उम्र का रिकॉर्ड अब एडम वोजेस के नाम हो गया है। उन्होंने मार्कस नार्थ के रिकॉर्ड को तोड़ा है। नार्थ ने 2009 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ शतक बनाया था, तब वे 29 साल की उम्र में डेब्यू कर रहे थे।

अपनी नाबाद 130 रन की पारी के दौरान वोजेस ने विंडसर पार्क में सबसे ज्यादा रन की पारी का रिकॉर्ड भी बना दिया। इस मैदान पर शतक बनाना इतना मुश्किल है कि अब तक केवल पांच बल्लेबाज़ ही यहां शतक बना पाए हैं।

इससे पहले मैदान पर सबसे ज्यादा 116 रन की पारी का रिकॉर्ड एस चंद्रपाल के नाम था। वैसे वोजेस ऑस्ट्रेलिया के 20वें बल्लेबाज़ हैं, जिन्होंने डेब्यू करते हुए शतक बनाय है, लेकिन इनमें से महज 6 बल्लेबाज़ विदेशी जमीं पर ऐसा कर पाए हैं।

दरअसल वोजेस को एक दशक के लंबे इंतज़ार के बाद डोमिनिका में टेस्ट खेलने का मौका मिला। इस मौके को वोजेस ने हाथ से जाने नहीं दिया। इसके लिए उन्हें जोश हेजलवुड का आभारी होना होगा, क्योंकि दसवें विकेट के तौर पर जब जोश हेजलवुड बल्लेबाज़ी के लिए उतरे तब वोजेस अपने शतक से 23 रन दूर थे। लेकिन हेजलवुड ने अपने टेस्ट करियर की बेहतरीन पारी खेलते हुए दसवें विकेट के लिए वोजेस के साथ 97 रन की साझेदारी निभाई। हेजलवुड ने 39 रन बनाए और एडम वोजेस के इतिहास बनाने में अहम भूमिका निभाई।